Connect with us

Rampur

Sdm Listened To Complaints By Lighting Mobile Torch – एसडीएम ने मोबाइल की टार्च जलाकर सुनीं शिकायतें

Published

on


शाहबाद में आयोजित संपूर्ण समाधान दिवस में मोबाइल की टार्च जलाकर शिकायत सुनते एसडीएम।  संवाद

शाहबाद में आयोजित संपूर्ण समाधान दिवस में मोबाइल की टार्च जलाकर शिकायत सुनते एसडीएम। संवाद
– फोटो : RAMPUR

ख़बर सुनें

शाहबाद। संपूर्ण समाधान दिवस के दौरान बिजली गुल होने की वजह से एसडीएम को अपने मोबाइल फोन की टार्च जलानी पड़ गई। उन्होंने टार्च की रोशनी में लोगों की शिकायतें सुनीं। इस दौरान शिकायतकर्ताओं ने अपनी शिकायतें रखीं। लोगों की 30 शिकायतें आईं, जिसमें से एक शिकायत का मौके पर ही निस्तारण कर दिया गया।
शनिवार को तहसील सभागार में एसडीएम अशोक कुमार की अध्यक्षता में संपूर्ण समाधान दिवस का आयोजित हुआ। इसमें विभिन्न गांवों और कस्बे के लोगों ने अपनी शिकायतें दर्ज कराईं। शिकायतें सुनते समय सभागार की विद्युत आपूर्ति गुल गई। जिससे अंधेरा छा गया। इसके चलते एसडीएम को अपने मोबाइल फोन की टार्च जलानी पड़ी। इस स्थिति में शिकायतकर्ताओं की अधिकारी शिकायतें सुनते रहे। लगभग दो घंटे अंधेरा रहा। शिकायतों में राजस्व विभाग से 16, विद्युत विभाग की दो, पुलिस विभाग की पांच, ब्लॉक की एक, नगर पंचायत शाहबाद की एक, स्वास्थ्य विभाग की एक और पूर्ति विभाग की चार शिकायतें आईं। इन सभी शिकायतों को संबंधित विभागों को सौंपकर जल्द निस्तारण के निर्देश दिए हैं। इस मौके पर तहसीलदार दिनेश कुमार, अजयवीर सिंह, शाहबाद कोतवाली प्रभारी संजय तोमर, चिकित्साधीक्षक डॉ. बी. लाल, वरुण चतुर्वेदी, ओपी विमल समेत अन्य विभागों के कर्मचारी और अधिकारी उपस्थित रहे।
संपूर्ण समाधान दिवस के दौरान बिजली गुल हो गई थी, जिसके चलते सभागार में अंधेरा हो गया था। इसी वजह से हमें अपने मोबाइल फोन की टार्च जलानी पड़ी। हालांकि, तहसील परिसर के लगे जनरेटर भी चलते चलते खराब हो गया है। हमने विद्युत विभाग से बात की है कि संपूर्ण संमाधान दिवस में बिजली आपूर्ति कैसे गुल हुई है। -अशोक कुमार, एसडीएम, शाहबाद।

शाहबाद। संपूर्ण समाधान दिवस के दौरान बिजली गुल होने की वजह से एसडीएम को अपने मोबाइल फोन की टार्च जलानी पड़ गई। उन्होंने टार्च की रोशनी में लोगों की शिकायतें सुनीं। इस दौरान शिकायतकर्ताओं ने अपनी शिकायतें रखीं। लोगों की 30 शिकायतें आईं, जिसमें से एक शिकायत का मौके पर ही निस्तारण कर दिया गया।

शनिवार को तहसील सभागार में एसडीएम अशोक कुमार की अध्यक्षता में संपूर्ण समाधान दिवस का आयोजित हुआ। इसमें विभिन्न गांवों और कस्बे के लोगों ने अपनी शिकायतें दर्ज कराईं। शिकायतें सुनते समय सभागार की विद्युत आपूर्ति गुल गई। जिससे अंधेरा छा गया। इसके चलते एसडीएम को अपने मोबाइल फोन की टार्च जलानी पड़ी। इस स्थिति में शिकायतकर्ताओं की अधिकारी शिकायतें सुनते रहे। लगभग दो घंटे अंधेरा रहा। शिकायतों में राजस्व विभाग से 16, विद्युत विभाग की दो, पुलिस विभाग की पांच, ब्लॉक की एक, नगर पंचायत शाहबाद की एक, स्वास्थ्य विभाग की एक और पूर्ति विभाग की चार शिकायतें आईं। इन सभी शिकायतों को संबंधित विभागों को सौंपकर जल्द निस्तारण के निर्देश दिए हैं। इस मौके पर तहसीलदार दिनेश कुमार, अजयवीर सिंह, शाहबाद कोतवाली प्रभारी संजय तोमर, चिकित्साधीक्षक डॉ. बी. लाल, वरुण चतुर्वेदी, ओपी विमल समेत अन्य विभागों के कर्मचारी और अधिकारी उपस्थित रहे।

संपूर्ण समाधान दिवस के दौरान बिजली गुल हो गई थी, जिसके चलते सभागार में अंधेरा हो गया था। इसी वजह से हमें अपने मोबाइल फोन की टार्च जलानी पड़ी। हालांकि, तहसील परिसर के लगे जनरेटर भी चलते चलते खराब हो गया है। हमने विद्युत विभाग से बात की है कि संपूर्ण संमाधान दिवस में बिजली आपूर्ति कैसे गुल हुई है। -अशोक कुमार, एसडीएम, शाहबाद।



Source link

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Rampur

Woman Killed In Road Accident, Bike Driver Injured – सड़क दुर्घटना में महिला की मौत,बाइक चालक घायल

Published

on

By


ख़बर सुनें

मिलक (रामपुर)। मिलक-बिलासपुर मार्ग पर ग्राम सिहारी के समीप बुधवार की रात को एक सड़क दुर्घटना में एक महिला की मौत हो गई तथा बाइक चालक गंभीर रूप से घायल हो गया।
थाना भोट के किसरोल निवासी प्रेम अपनी चाची अमर देई (27) के साथ अपनी नानी के घर नगला उदई गया था। देर शाम दोनों बाइक से वापस घर लौट रहे थे। तेज रफ्तार आ रहे ट्रक ने बाइक में टक्कर मार दी। टक्कर लगने पर बाइक पर पीछे बैठी उसकी चाची उछल सड़क पर जा गिरी तथा सामने से आ रहे ट्रक के नीचे आने से उसकी मौके पर ही मौत हो गई। सूचना पर पहुंची पुलिस ने महिला के शव को पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल भेज दिया है। साथ ही परिजन की तहरीर पर अज्ञात ट्रक चालक के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली है। संवाद

मिलक (रामपुर)। मिलक-बिलासपुर मार्ग पर ग्राम सिहारी के समीप बुधवार की रात को एक सड़क दुर्घटना में एक महिला की मौत हो गई तथा बाइक चालक गंभीर रूप से घायल हो गया।

थाना भोट के किसरोल निवासी प्रेम अपनी चाची अमर देई (27) के साथ अपनी नानी के घर नगला उदई गया था। देर शाम दोनों बाइक से वापस घर लौट रहे थे। तेज रफ्तार आ रहे ट्रक ने बाइक में टक्कर मार दी। टक्कर लगने पर बाइक पर पीछे बैठी उसकी चाची उछल सड़क पर जा गिरी तथा सामने से आ रहे ट्रक के नीचे आने से उसकी मौके पर ही मौत हो गई। सूचना पर पहुंची पुलिस ने महिला के शव को पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल भेज दिया है। साथ ही परिजन की तहरीर पर अज्ञात ट्रक चालक के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली है। संवाद



Source link

Continue Reading

Rampur

Awareness Campaign Started In Traffic Month, Yet 28 Lives In Accidents – यातायात माह में चला जागरूकता अभियान, फिर भी हादसों में गई 28 की जान

Published

on

By


ख़बर सुनें

रामपुर। नवंबर की शुरुआत से लेकर अंत तक यातायात सड़क सुरक्षा माह मनाया गया, जिसमें रोजाना पुलिस कर्मियों ने लोगों को जागरूक किया तो यातायात नियमों के उल्लंघन पर चालान कर जुर्माना भी वसूला। लेकिन, इसके बावजूद नवंबर में अलग-अलग सड़क हादसों में 28 लोगों की जान चली गई। इस माह में करीब 85 सड़क हादसे हुए। इन हादसों में किसी की मौत हुई तो कोई गंभीर रूप से घायल हुआ।
सड़क सुरक्षा माह के तहत यातायात पुलिस ने करीब दो हजार वाहन चालकों का यातायात नियमों के उल्लंघन पर चालान किया और करीब 677600 रुपये का जुर्माना भी वसूला। इसके साथ ही करीब डेढ़ दर्जन स्कूलों में जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किए और शहर के प्रमुख स्थानों पर पंफलेट भी बांटे लेकिन, इस सबके बावजूद भी नवंबर माह में अलग-अलग हादसों में 28 लोगों की जान चली गई। इनमें दो पहिया वाहनों वाले अधिकतर हादसों में दोपहिया वाहन सवार हेलमेट नहीं पहने हुए थे। यानी लोग भी यातायात नियमों के पालन को लेकर जागरूक नहीं दिखे, जिस कारण हादसे में जान गंवानी पड़ी।
नवंबर में हुए हादसे –
दो नवंबर : शाहबाद रोड और शहजादनगर थाना क्षेत्र में हादसों में शाहवेज मियां, नरेश की मौत हुई।
चार नवंबर: मसवासी, शाहबाद और भोट थाना क्षेत्र में अलग-अलग सड़क हादसों में चार लोगों की मौत हो गई।
छह नवंबर: अलग-अलग सड़क हादसों में दो लोगों की मौत हुई।
सात नवंबर: को मलक हाईवे पर हादसे में बाइक सवार श्रमिक की मौत हो गई थी।
नौ नवंबर : केमरी रोड पर सड़क हादसे में एक बाइक सवार की मौत हुई थी।
13 नवंबर: दढ़ियाल काशीपुर मार्ग पर ट्रैक्टर ट्राली की चपेट में आकर एक युवक की मौत हो गई थी।
13 नवंबर: भोट थाना क्षेत्र निवासी एक युवक की सड़क हादसे में उपचार के दौरान मौत हुई थी।
17 नवंबर: बरेली निवासी एक युवक की कोसी पुल के निकट सड़क हादसे में मौत हो गई थी।
19 नवंबर: मिलक खानम थाना क्षेत्र में एक बाइक सवार की सड़क हादसे में मौत हुई थी।
20 नवंबर: शहजादनगर थाना क्षेत्र में सड़क हादसे में एक महिला और उसके भतीजे की मौत हो गई थी।
22 नवंबर: मसवासी, सिविल लाइंस, स्वार और टांडा थाना क्षेत्र में अलग-अलग सड़क हादसे में चार लोगों की मौत हो गई थी।
23 नवंबर: मिलक खानम और सिविल लाइंस थाना क्षेत्र में अलग-अलग सड़क हादसों में दो लोगों की मौत हो गई थी।
24 नवंबर: बिलासपुर थाना क्षेत्र में दो बाइकों की भिड़ंत में केमरी निवासी राजेंद्र कुमार की मौत हो गई थी।
25 नवंबर: एक मिनी बस अजीम नगर थाना क्षेत्र में पेड़ से टकरा गई थी जिसमें हिसार निवासी चालक हिमांशु की मौत हो गई थी।
26 नवंबर: मिलक थाना क्षेत्र में अज्ञात वाहन की टक्कर से घायल बरेली निवासी योगेश की उपचार के दौरान मौत हो गई ।
27 नवंबर: शहर कोतवाली, टांडा थाने और मसवासी क्षेत्र में सड़क हादसों में दो युवकों और एक बालक की मौत हो गई थी।
29 नवंबर: दढ़ियाल और मसवासी क्षेत्र में अलग-अलग हादसों में दो लोगों की मौत हुई थी।

रामपुर। नवंबर की शुरुआत से लेकर अंत तक यातायात सड़क सुरक्षा माह मनाया गया, जिसमें रोजाना पुलिस कर्मियों ने लोगों को जागरूक किया तो यातायात नियमों के उल्लंघन पर चालान कर जुर्माना भी वसूला। लेकिन, इसके बावजूद नवंबर में अलग-अलग सड़क हादसों में 28 लोगों की जान चली गई। इस माह में करीब 85 सड़क हादसे हुए। इन हादसों में किसी की मौत हुई तो कोई गंभीर रूप से घायल हुआ।

सड़क सुरक्षा माह के तहत यातायात पुलिस ने करीब दो हजार वाहन चालकों का यातायात नियमों के उल्लंघन पर चालान किया और करीब 677600 रुपये का जुर्माना भी वसूला। इसके साथ ही करीब डेढ़ दर्जन स्कूलों में जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किए और शहर के प्रमुख स्थानों पर पंफलेट भी बांटे लेकिन, इस सबके बावजूद भी नवंबर माह में अलग-अलग हादसों में 28 लोगों की जान चली गई। इनमें दो पहिया वाहनों वाले अधिकतर हादसों में दोपहिया वाहन सवार हेलमेट नहीं पहने हुए थे। यानी लोग भी यातायात नियमों के पालन को लेकर जागरूक नहीं दिखे, जिस कारण हादसे में जान गंवानी पड़ी।

नवंबर में हुए हादसे –

दो नवंबर : शाहबाद रोड और शहजादनगर थाना क्षेत्र में हादसों में शाहवेज मियां, नरेश की मौत हुई।

चार नवंबर: मसवासी, शाहबाद और भोट थाना क्षेत्र में अलग-अलग सड़क हादसों में चार लोगों की मौत हो गई।

छह नवंबर: अलग-अलग सड़क हादसों में दो लोगों की मौत हुई।

सात नवंबर: को मलक हाईवे पर हादसे में बाइक सवार श्रमिक की मौत हो गई थी।

नौ नवंबर : केमरी रोड पर सड़क हादसे में एक बाइक सवार की मौत हुई थी।

13 नवंबर: दढ़ियाल काशीपुर मार्ग पर ट्रैक्टर ट्राली की चपेट में आकर एक युवक की मौत हो गई थी।

13 नवंबर: भोट थाना क्षेत्र निवासी एक युवक की सड़क हादसे में उपचार के दौरान मौत हुई थी।

17 नवंबर: बरेली निवासी एक युवक की कोसी पुल के निकट सड़क हादसे में मौत हो गई थी।

19 नवंबर: मिलक खानम थाना क्षेत्र में एक बाइक सवार की सड़क हादसे में मौत हुई थी।

20 नवंबर: शहजादनगर थाना क्षेत्र में सड़क हादसे में एक महिला और उसके भतीजे की मौत हो गई थी।

22 नवंबर: मसवासी, सिविल लाइंस, स्वार और टांडा थाना क्षेत्र में अलग-अलग सड़क हादसे में चार लोगों की मौत हो गई थी।

23 नवंबर: मिलक खानम और सिविल लाइंस थाना क्षेत्र में अलग-अलग सड़क हादसों में दो लोगों की मौत हो गई थी।

24 नवंबर: बिलासपुर थाना क्षेत्र में दो बाइकों की भिड़ंत में केमरी निवासी राजेंद्र कुमार की मौत हो गई थी।

25 नवंबर: एक मिनी बस अजीम नगर थाना क्षेत्र में पेड़ से टकरा गई थी जिसमें हिसार निवासी चालक हिमांशु की मौत हो गई थी।

26 नवंबर: मिलक थाना क्षेत्र में अज्ञात वाहन की टक्कर से घायल बरेली निवासी योगेश की उपचार के दौरान मौत हो गई ।

27 नवंबर: शहर कोतवाली, टांडा थाने और मसवासी क्षेत्र में सड़क हादसों में दो युवकों और एक बालक की मौत हो गई थी।

29 नवंबर: दढ़ियाल और मसवासी क्षेत्र में अलग-अलग हादसों में दो लोगों की मौत हुई थी।



Source link

Continue Reading

Rampur

Exucutive Of Basic Sikha Kanyan Samiti – बेसिक शिक्षा कल्याण समिति की जिला कार्यकारिणी का गठन

Published

on

By


ख़बर सुनें

रामपुर। बेसिक शिक्षा कल्याण समिति का सम्मेलन सिविल लाइंस में हुआ। जिसमें जिला एवं नगर कार्यकारिणी का गठन किया गया। जिलाध्यक्ष योगेश शर्मा ने प्रमोद गंगवार को जिला महासचिव, सुभाष सक्सेना, योगेश कुमार, परवेज अख्तर और झम्मन लाल गंगवार को जिला उपाध्यक्ष बनाया। कीर्ति सरन को कोषाध्यक्ष पद की जिम्मेदारी सौंपी गई। रामपुर शहर की कार्यकारिणी के लिए रेहान खां को महासचिव और जावेद निजामी, मोनिस राजा खां व सलमान सलीम को नगर उपाध्यक्ष बनाया। इस मौके पर प्रदेशाध्यक्ष सर्वेश पाठक ने कहा कि वह प्रबंधकों की समस्याएं प्रदेश स्तर पर उठाएंगे। सरकार को निजी स्कूलों केे उत्थान में लिए सहायता राशि देनी चाहिए। चितरंजन दास, देवेंद्र, दीपक लोधी, जीशान खां, शदाब कदीरी, महिपाल आदि मौजूद रहे। संवाद

रामपुर। बेसिक शिक्षा कल्याण समिति का सम्मेलन सिविल लाइंस में हुआ। जिसमें जिला एवं नगर कार्यकारिणी का गठन किया गया। जिलाध्यक्ष योगेश शर्मा ने प्रमोद गंगवार को जिला महासचिव, सुभाष सक्सेना, योगेश कुमार, परवेज अख्तर और झम्मन लाल गंगवार को जिला उपाध्यक्ष बनाया। कीर्ति सरन को कोषाध्यक्ष पद की जिम्मेदारी सौंपी गई। रामपुर शहर की कार्यकारिणी के लिए रेहान खां को महासचिव और जावेद निजामी, मोनिस राजा खां व सलमान सलीम को नगर उपाध्यक्ष बनाया। इस मौके पर प्रदेशाध्यक्ष सर्वेश पाठक ने कहा कि वह प्रबंधकों की समस्याएं प्रदेश स्तर पर उठाएंगे। सरकार को निजी स्कूलों केे उत्थान में लिए सहायता राशि देनी चाहिए। चितरंजन दास, देवेंद्र, दीपक लोधी, जीशान खां, शदाब कदीरी, महिपाल आदि मौजूद रहे। संवाद



Source link

Continue Reading

Trending