Connect with us

Mathura

Jawahar Bagh Violence Application Given In Cjm Court By Ram Vriksha Yadav Guru Bhai – जवाहर बाग कांड: गुरु भाई ने रामवृक्ष यादव के अपहरण की रिपोर्ट के लिए खटखटाया अदालत का दरवाजा, दिया प्रार्थनापत्र

Published

on


सार

दो जून 2016 की शाम पांच बजे जवाहर बाग में जैसे ही तत्कालीन एसपी सिटी मुकुल द्विवेदी और एसएचओ फरह संतोष यादव ने पुलिस टीम के साथ कारागार की तरफ से दीवार तोड़कर कब्जा लेने का प्रयास किया तो ताबड़तोड़ गोलियां चलीं, जिसमें दोनों अधिकारी शहीद हो गए। इसी दौरान कब्जाधारियों का नेतृत्व कर रहे रामवृक्ष यादव गायब हो गया। 
 

रामवृक्ष यादव का फाइल फोटो
– फोटो : अमर उजाला

ख़बर सुनें

मथुरा में हुए जवाहर बाग कांड के मुख्य आरोपी रामवृक्ष यादव के गुरुभाई राजनारायण शुक्ला ने रामवृक्ष के अपहरण की रिपोर्ट दर्ज करवाने के लिए सीजेएम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। दिए गए प्रार्थनापत्र में उसने बुलेरो सवार अज्ञात पुलिसकर्मियों पर अपरहण कर गायब करने या फिर हत्या करने का आरोप लगाया है। 
धरने पर बैठे थे
राजनारायण शुक्ला निवासी मिसरौलिया दुर्वासा जिला बस्ती की ओर से दिए गए प्रार्थना पत्र के अनुसार वर्ष 2014 में जवाहर बाग में रामवृक्ष यादव निवासी गांव रायपुर बागपुर थाना मरदह जिला गाजीपुर अपने गुरु जय गुरुदेव का मृत्यु प्रमाण पत्र पाने के लिए धरने पर बैठे थे। उन्हें हटाने के लिए केंद्र सरकार, उत्तर प्रदेश सरकार, मथुरा प्रशासन और जयगुरुदेव के अनुयायियों ने दो जून 2016 को हम लोगों पर गोली चलवाईं। बचने के लिए मैं तथा हरनाथ सिंह ,विवेक यादव पुत्र रामवृक्ष यादव, अमित गुप्ता तथा रामवृक्ष भागे।
रामवृक्ष यादव को गाड़ी जबरन डाल कर ले गए
इसी दौरान पुलिस लाइन के पास बोलेरो सवार कुछ पुलिस वाले रामवृक्ष यादव को गाड़ी जबरन डाल कर ले गए। उन्हें न तो आज तक जेल भेजा है ना ही पेश किया है। हम लोग पुलिस से जानकारी करते रहे, लेकिन हमें कोई भी जानकारी नहीं मिली। हम जानना चाहते हैं कि रामवृक्ष यादव पुलिस की अभिरक्षा में है या फिर उसकी हत्या कर दी गई है। राजनारायण ने अदालत से अज्ञात पुलिस वालों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर जांच की मांग की है। इस संबंध में जानकारी देते हुए रामवृक्ष यादव के अधिवक्ता एलके गौतम ने बताया कि राजनारायण  की ओर से अज्ञात पुलिस वालों के खिलाफ अपहरण की रिपोर्ट दर्ज कर कार्रवाई की मांग की है।

अभी तक सीबीआई का इंतजार कर रहे थे
राजनारायण ने बताया कि इस केस की जांच सीबीआई कर रही है। इसलिए हमें उम्मीद थी कि सीबीआई कुछ करेगी। लेकिन सीबीआई ने कुछ नहीं किया। इसलिए हमें अब न्यायालय की शरण में आना पड़ा है।
रामवृक्ष यादव को पुलिस ने बताया था मृत
जवाहर बाग में धरना प्रदर्शन करने वाले रामवृक्ष यादव को पुलिस ने मृत बताया था। एक शव की पुलिस ने रामवृक्ष यादव के साथी हरनाथ से पहचान भी कराई थी। बाद में हरनाथ ने बताया था कि उससे पुलिस ने जबरदस्ती शिनाख्त कराई थी। रामवृक्ष यादव के इस शव की डीएनए की जांच भी कराई गई थी। लेकिन उसकी रिपोर्ट अभी तक नहीं मिली है। जयगरुदेव पेट्रोल पंप पर हमले के मामले में वांछित रामवृक्ष यादव के नाम वारंट भी निकले थे।
संबंधित खबर…

जवाहर बाग कांड: अभी तक नहीं आई मास्टरमाइंड रामवृक्ष यादव की डीएनए रिपोर्ट, अदालत में प्रार्थनापत्र देंगे वकील

विस्तार

मथुरा में हुए जवाहर बाग कांड के मुख्य आरोपी रामवृक्ष यादव के गुरुभाई राजनारायण शुक्ला ने रामवृक्ष के अपहरण की रिपोर्ट दर्ज करवाने के लिए सीजेएम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। दिए गए प्रार्थनापत्र में उसने बुलेरो सवार अज्ञात पुलिसकर्मियों पर अपरहण कर गायब करने या फिर हत्या करने का आरोप लगाया है। 

धरने पर बैठे थे

राजनारायण शुक्ला निवासी मिसरौलिया दुर्वासा जिला बस्ती की ओर से दिए गए प्रार्थना पत्र के अनुसार वर्ष 2014 में जवाहर बाग में रामवृक्ष यादव निवासी गांव रायपुर बागपुर थाना मरदह जिला गाजीपुर अपने गुरु जय गुरुदेव का मृत्यु प्रमाण पत्र पाने के लिए धरने पर बैठे थे। उन्हें हटाने के लिए केंद्र सरकार, उत्तर प्रदेश सरकार, मथुरा प्रशासन और जयगुरुदेव के अनुयायियों ने दो जून 2016 को हम लोगों पर गोली चलवाईं। बचने के लिए मैं तथा हरनाथ सिंह ,विवेक यादव पुत्र रामवृक्ष यादव, अमित गुप्ता तथा रामवृक्ष भागे।

रामवृक्ष यादव को गाड़ी जबरन डाल कर ले गए

इसी दौरान पुलिस लाइन के पास बोलेरो सवार कुछ पुलिस वाले रामवृक्ष यादव को गाड़ी जबरन डाल कर ले गए। उन्हें न तो आज तक जेल भेजा है ना ही पेश किया है। हम लोग पुलिस से जानकारी करते रहे, लेकिन हमें कोई भी जानकारी नहीं मिली। हम जानना चाहते हैं कि रामवृक्ष यादव पुलिस की अभिरक्षा में है या फिर उसकी हत्या कर दी गई है। राजनारायण ने अदालत से अज्ञात पुलिस वालों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर जांच की मांग की है। इस संबंध में जानकारी देते हुए रामवृक्ष यादव के अधिवक्ता एलके गौतम ने बताया कि राजनारायण  की ओर से अज्ञात पुलिस वालों के खिलाफ अपहरण की रिपोर्ट दर्ज कर कार्रवाई की मांग की है।



Source link

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Mathura

Corona Virus Case In Mathura Vrindavan No Vaccination Foreigner Health Department Found Negligence – बड़ी लापरवाही: स्वास्थ्य विभाग की जांच में हुआ खुलासा, मथुरा आए विदेशी मेहमानों ने नहीं कराया टीकाकरण

Published

on

By


संवाद न्यूज एजेंसी, मथुरा-वृंदावन
Published by: Abhishek Saxena
Updated Fri, 03 Dec 2021 11:27 AM IST

सार

आश्रम प्रबंधन से भी जवाब मांगा गया है कि आपने बिना रिपोर्ट के अपने यहां पर क्यों ठहराया। जबकि कोरोना गाइडलाइन में स्पष्ट है कि जब भी कोई विदेशी आएगा तो उसकी कोरोना रिपोर्ट पहले लेंगे।

आश्रम पर पहुंची स्वास्थ्य विभाग की टीम का फाइल फोटो

आश्रम पर पहुंची स्वास्थ्य विभाग की टीम का फाइल फोटो
– फोटो : अमर उजाला

ख़बर सुनें

विस्तार

वृंदावन में कोरोना को फैलने के पीछे कई लापरवाही बरती गईं हैं। शीतल छाया के जिस आश्रम में विदेशी मेहमानों को ठहरे थे, उस आश्रम के संचालकों ने सरकारी गाइडलाइन को दरकिनार किया। विदेश से आए लोगों से न तो कोविड की जांच रिपोर्ट ही देखी गई और न ही उनसे टीकाकरण की रिपोर्ट ही ली गई। आश्रम में ठहरे विदेशी मेहमानों में से कई ने कोरोना के टीके तक नहीं लगवाए। इसका खुलासा स्वास्थ्य विभाग की जांच में हुआ है।

शनिवार को वृंदावन के शीतल छाया स्थित एक आश्रम में ठहरे विदेशी मेहमानों में से रसिया निवासी एक महिला की सबसे पहले कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट आई थी। इसके बाद स्वास्थ्य विभाग ने 44 लोगों के सैंपल लेकर जांच के लिए भेजे। जांच रिपोर्ट आने के बाद 8 विदेशी कोरोना पॉजिटिव निकले।  

लखनऊ लैब भेजे सैंपल

जिला कंट्रोल प्रभारी डॉ. भूदेव सिंह ने बताया कि जांच के लिए पॉजिटिव मिले सभी विदेशी और स्थानीय लोगों के सैंपल जीनोम स्वीकेंस के लिए लखनऊ स्थित लैब भेजे गए हैं। रिपोर्ट शुक्रवार को आने की संभावना है। उन्होंने बताया कि आश्रम प्रबंधन से भी जवाब मांगा गया है कि आपने बिना रिपोर्ट के अपने यहां पर क्यों ठहराया। जबकि कोरोना गाइडलाइन में स्पष्ट है कि जब भी कोई विदेशी आएगा तो उसकी कोरोना रिपोर्ट पहले लेंगे, साथ ही उसका कोरोना टेस्ट भी कराएंगे।

दो हजार लोगों के लिए सैंपल 

बृहस्पतिवार का दिन स्वास्थ्य विभाग के लिए राहत भरा रहा। जनपद में कोई भी पॉजिटिव रिपोर्ट न मिलने से स्वास्थ्य विभाग ने राहत ली है। इधर, स्वास्थ्य विभाग ने वृंदावन सहित जनपद में दो हजार लोगों के सैंपल लेकर जांच के लिए भेजे हैं। बुधवार को प्रेम मंदिर के पास भिक्षा मांगने वाली महिला की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम ने परिवार के सदस्यों और पड़ोसियों के भी सैंपल लेकर जांच के लिए भेजे हैं।

मथुरा में कोरोना: गेस्ट हाउस और आश्रमों में अब देना होगा कोरोना जांच का प्रमाणपत्र, संक्रमण फैलने के बाद जागा विभाग

 



Source link

Continue Reading

Mathura

Serious Allegations Against Dev Murari Bapu Fir Filed Of Molestation Police Arrests Saint – मथुरा: छेड़छाड़ और चौथ वसूली के आरोप के बाद संत देव मुरारी बापू ने दी आत्महत्या की धमकी, पुलिस ने किया गिरफ्तार

Published

on

By


संवाद न्यूज एजेंसी, मथुरा
Published by: Abhishek Saxena
Updated Wed, 01 Dec 2021 12:35 PM IST

सार

संत देव मुरारी बापू ने बुधवार दो बजे आत्महत्या करने की धमकी दी थी। जिसके बाद पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया है।

संत को पकड़कर ले जाती पुलिस

संत को पकड़कर ले जाती पुलिस
– फोटो : अमर उजाला

ख़बर सुनें

विस्तार

संत देव मुरारी बापू पर महिला ने छेड़छाड़, जान से मारने की धमकी की रिपोर्ट दर्ज कराई। इसके बाद संत ने आत्महत्या की चेतावनी का एक वीडियो जारी किया है। उन्होंने कहा है कि वे हिंदुत्व के लिए काम कर रहे हैं। लेकिन कुछ लोग उन्हें रोक रहे हैं। वृंदावन में दोपहर दो बजे आत्महत्या की धमकी दी। पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया है।

ये था मामला

मंगलवार को मामला सामने आया था। महिला ने आरोप लगाया है कि तीन अक्तूबर को वह अपने घर से स्कूटी से जा रही थी। कुछ दूर पहुंचते ही देव मुरारी बापू के घर के सामने बने ऊंचे-ऊंचे ब्रेकर से स्कूटी असंतुलित होकर गिर गईं। उन्होंने स्पीड ब्रेकर को गलत बताते हुए लोगों के गिरने की बात कही तो आरोपी उन्हें भद्दी-भद्दी गालियां देने लगे तथा गलत तरीके से धक्का भी दिया। पीड़िता का आरोप है कि सौरभ गौतम और गौरव गौतम निवासी किशोरपुरा पर उनके 35 लाख रुपये हैं। इसको लेकर कोर्ट में केस चल रहा है। कुछ दिन पूर्व देव मुरारी बापू, सौरभ, गौरव व दो अन्य लोगों को लेकर उनके घर पहुंचे। गाली गलौज करते हुए असलहा निकालकर रुपये के लेनदेन के मामले में चल रहे मुकदमे को वापस लेने की कहते हुए उन्हें जान से मारने की धमकी दी और 10 लाख रुपये की चौथ भी मांगी। 

महिला ने लगाए आरोप

पीड़िता का आरोप है कि तीन दिन पूर्व इन लोगों ने उनके पीछे एक चार पहिया गाड़ी को लगा दिया।  इसमें कई लोग सवार थे। उन्होंने पीड़िता को जान से मारने की धमकी दी है। इस संबंध में उन्होंने संत देव मुरारी बापू, गौरव एवं सौरभ व दो अन्य के खिलाफ कोतवाली में नामजद मुकदमा दर्ज कराया है। कोतवाली प्रभारी अजय कौशल ने बताया कि महिला की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। एसएसपी डॉ.गौरव ग्रोवर ने बताया कि शिकायत के आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

मेरे साथ बहुत बड़ा षड्यंत्र : देव मुरारी

बुधवार को देव मुरारी बापू ने एक वीडियो जारी कर कहा था कि उनका महिला से कोई वाद-विवाद नहीं है। महिला से कोई रुपया का लेन देन नही है। उनको न तो धमकाया है और ना कभी कोई गाली दी है। वे हिंदुत्व को लेकर काम कर रहे हैं। कुछ लोग उन्हें रोकना चाहते हैं। उन्होंने पुलिस पर भी गंभीर आरोप लगाए। कहा कि पुलिस छह दिसंबर को श्रीकृष्ण जन्म भूमि स्थान की शाही ईदगाह के लिए पदयात्रा को कमजोर करना चाहती है, यह मेरे साथ बहुत बड़ा षड्यंत्र है। उन्होंने धमकी दी थी कि वे बुधवार दोपहर दो बजे आत्महत्या कर लेंगे। लेकिन इससे पहले ही पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया।

 



Source link

Continue Reading

Mathura

Prime Minister Mentioned Vrindavan In Mann Ki Baat – प्रधानमंत्री ने मन की बात में किया वृंदावन का जिक्र

Published

on

By


ख़बर सुनें

वृंदावन। भगवान कृष्ण और राधारानी की क्रीड़ा भूमि वृंदावन का जिक्र भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को अपने मन की बात कार्यक्रम में किया है। 32 मिनट 10 सेकंड के कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वृंदावन के बारे में 3 मिनट चर्चा की।
इस चर्चा में पीएम ने वृंदावन की पावन धरा की महिमा का वर्णन किया। कहा कि यहां भगवान के रस का कोई अंत नहीं हैं। ब्रज की अलग-अलग लीला भूमि में वृंदावन एक पवित्र स्थल है। भगवान कृष्ण और राधाजी के प्रेम की भूमि वृंदावन से दुनिया भर में कृष्ण भक्ति की अलख जगी है। यही वजह है कि वृंदावन में बड़ी संख्या में विदेशों से कृष्ण भक्त आते हैं।
मोदी ने मन की बात में ऑस्ट्रेलिया के पर्थ की रहने वाली महिला जगत तारिणी दासी का जिक्र क़िया। बताया कि जगत तारिणी दासी 13 वर्ष तक वृंदावन रहीं। यहां से वह जब वापस अपने देश गईं तो वह वृंदावन को नहीं भूल सकीं। तारिणी दासी ने पर्थ में सेक्रेड इंडिया गैलरी बनाई। इसमें उन्होंने अपनी कला के जरिये वृंदावन के अलावा पश्चिम बंगाल के नवदीप और उड़ीसा के जगन्नाथ पुरी को बनाया। जगत तारिणी दासी की गैलरी का जिक्र करते हुए कहा कि वहां एक कलाकृति ऐसी भी है जो गोवर्धन पर्वत को भगवान कृष्ण की कन्नी उंगली पर उठाती हुई दिखाई है। भगवान कृष्ण के रस का कोई अंत नहीं।
मथुरा की सुखदेवी से प्रधानमंत्री ने की मन की बात
मथुरा। आयुष्मान योजना में अपने घुटने ठीक करा चुकी दामोदरपुरा की रहने वाली सुखदेवी से ‘मन की बात’ कार्यक्रम में प्रधानमंत्री ने बातचीत की। महिला ने आयुष्मान योजना में घुटनों के सफल ऑपरेशन होने की बात कही। इसी योजना में अपने घुटनों का ऑपरेशन कराया। इसके लिए प्रधानमंत्री का आभार भी जताया। फोन पर पीएम से बात करते हुए सुखदेवी ने कहा है कि वह घुटनों की समस्या से करीब 5-6 वर्ष से चारपाई पर पड़ी थी। आयुष्मान कार्ड के तहत उसका प्रयाग हॉस्पिटल में इलाज हुआ। अब वह स्वस्थ है। बच्चों की देखभाल भी करती है। अब सही प्रकार चल फिर भी लेती हैं। पीएम ने सुखदेवी से सवाल किया कि आयुष्मान कार्ड से पहले डॉक्टरों ने उसके घुटने के ऑपरेशन पर कितना खर्चा बताया था, कहा कि डॉक्टरों ने उसके घुटनों के ऑपरेशन पर ढाई-तीन लाख का खर्चा बताया था। ऑपरेशन में एक भी पैसा खर्च नहीं हुआ।
पीएम ने कहा कि राधे-राधे
सुखदेवी से बातचीत शुरू होने पर जब प्रधानमंत्री ने यह पूछा कि वह कहां की रहने वाली हैं। सुख देवी ने कहा कि मथुरा की। इस पर प्रधानमंत्री ने उनसे राधे-राधे कहा। इसका जवाब सुखदेवी ने भी राधे-राधे से अभिवादन करके दिया।

वृंदावन। भगवान कृष्ण और राधारानी की क्रीड़ा भूमि वृंदावन का जिक्र भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को अपने मन की बात कार्यक्रम में किया है। 32 मिनट 10 सेकंड के कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वृंदावन के बारे में 3 मिनट चर्चा की।

इस चर्चा में पीएम ने वृंदावन की पावन धरा की महिमा का वर्णन किया। कहा कि यहां भगवान के रस का कोई अंत नहीं हैं। ब्रज की अलग-अलग लीला भूमि में वृंदावन एक पवित्र स्थल है। भगवान कृष्ण और राधाजी के प्रेम की भूमि वृंदावन से दुनिया भर में कृष्ण भक्ति की अलख जगी है। यही वजह है कि वृंदावन में बड़ी संख्या में विदेशों से कृष्ण भक्त आते हैं।

मोदी ने मन की बात में ऑस्ट्रेलिया के पर्थ की रहने वाली महिला जगत तारिणी दासी का जिक्र क़िया। बताया कि जगत तारिणी दासी 13 वर्ष तक वृंदावन रहीं। यहां से वह जब वापस अपने देश गईं तो वह वृंदावन को नहीं भूल सकीं। तारिणी दासी ने पर्थ में सेक्रेड इंडिया गैलरी बनाई। इसमें उन्होंने अपनी कला के जरिये वृंदावन के अलावा पश्चिम बंगाल के नवदीप और उड़ीसा के जगन्नाथ पुरी को बनाया। जगत तारिणी दासी की गैलरी का जिक्र करते हुए कहा कि वहां एक कलाकृति ऐसी भी है जो गोवर्धन पर्वत को भगवान कृष्ण की कन्नी उंगली पर उठाती हुई दिखाई है। भगवान कृष्ण के रस का कोई अंत नहीं।

मथुरा की सुखदेवी से प्रधानमंत्री ने की मन की बात

मथुरा। आयुष्मान योजना में अपने घुटने ठीक करा चुकी दामोदरपुरा की रहने वाली सुखदेवी से ‘मन की बात’ कार्यक्रम में प्रधानमंत्री ने बातचीत की। महिला ने आयुष्मान योजना में घुटनों के सफल ऑपरेशन होने की बात कही। इसी योजना में अपने घुटनों का ऑपरेशन कराया। इसके लिए प्रधानमंत्री का आभार भी जताया। फोन पर पीएम से बात करते हुए सुखदेवी ने कहा है कि वह घुटनों की समस्या से करीब 5-6 वर्ष से चारपाई पर पड़ी थी। आयुष्मान कार्ड के तहत उसका प्रयाग हॉस्पिटल में इलाज हुआ। अब वह स्वस्थ है। बच्चों की देखभाल भी करती है। अब सही प्रकार चल फिर भी लेती हैं। पीएम ने सुखदेवी से सवाल किया कि आयुष्मान कार्ड से पहले डॉक्टरों ने उसके घुटने के ऑपरेशन पर कितना खर्चा बताया था, कहा कि डॉक्टरों ने उसके घुटनों के ऑपरेशन पर ढाई-तीन लाख का खर्चा बताया था। ऑपरेशन में एक भी पैसा खर्च नहीं हुआ।

पीएम ने कहा कि राधे-राधे

सुखदेवी से बातचीत शुरू होने पर जब प्रधानमंत्री ने यह पूछा कि वह कहां की रहने वाली हैं। सुख देवी ने कहा कि मथुरा की। इस पर प्रधानमंत्री ने उनसे राधे-राधे कहा। इसका जवाब सुखदेवी ने भी राधे-राधे से अभिवादन करके दिया।



Source link

Continue Reading

Trending