Connect with us

Hapur

Hapur News – गालंद में डंपिंग ग्राउंड की चहारदीवारी के निर्माण पर लगी रोक

Published

on


डंपिंग ग्राउंड के विरोध में धरना पर बैठे ग्रामीणों को निगम द्वारा चिन्हित भूमि के निर्माण कार्य ?
– फोटो : PILAKHWA

ख़बर सुनें

गालंद में डंपिंग ग्राउंड की चहारदीवारी के निर्माण पर लगी रोक
पिलखवा। गाजियाबाद नगर निगम द्वारा गालंद गांव में प्रस्तावित वेस्ट टू एनर्जी प्लांट के निर्माण कार्य को फिलहाल रोकने का दावा किया गया है। धौलाना के ब्लॉक प्रमुख निशांत शिशौदिया ने धरना स्थल पहुंचकर यह जानकारी दी लेकिन ग्रामीणों ने लिखित में आदेश मिलने पर ही धरना समाप्त करने का निर्णय लिया। हालांकि डीएम ने इस तरह का कोई आदेश मिलने से इंकार किया है।
धौलाना ब्लॉक प्रमुख निशांत शिशौदिया बृहस्पतिवार को गालंद स्थित पंचायत घर पर चल रहे धरने में पहुंचे। धरनारत ग्रामीणों की बीच पहुंचे ब्लॉक प्रमुख ने कहा कि इस मामले में केंद्रीय राज्यमंत्री एवं क्षेत्रिय सांसद जनरल वीके सिंह समेत अन्य जनप्रतिनिधियों ने प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से वार्ता की है। जिसके बाद शासनस्तर से डंपिंग ग्राउंड के निर्माण कार्य पर रोक लगा दी गई है। इसका आदेश भी जिला प्रशासन को मिल चुका है। जल्द ही इस संबंध में घोषणा कर दी जाएगी।

यह है मामला-
गाजियाबाद नगर निगम द्वारा गालंद गांव में कूड़ा निस्तारण के लिए वेस्ट टू एनर्जी प्लांट लगाए जाने को 44.25 एकड़ भूमि गाजियाबाद विकास प्राधिकरण से खरीदी थी। निगम के अधिकारियों का दावा है कि प्लांट में जैविक खाद और बिजली बनाई जाएगी। एक अक्तूबर को निगम ने कूड़े के डंपर चिन्हित जमीन पर भेजे थे। जिसकी सूचना मिलते ही ग्रामीण मौके पर पहुंचे और उन्होंने डंपरों को वापस कर दिया। इसी विरोध के चलते गत तीन अक्तूबर से ग्रामीण धरनारत हैं। इसी दौरान निगम ने चिन्हित जमीन की चहारदीवारी का निर्माण कार्य शुरू करा दिया। जिसे ग्रामीणों ने ढहा दिया। मामले में निगम के जेई योगेश कुमार द्वारा 34 नामजद समेत 250 से अधिक ग्रामीणों के खिलाफ पिलखुवा थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई गई है।
खुफिया विभाग ने तैयार की रिपोर्ट
बृहस्पतिवार को गाजियाबाद और हापुड़ के खुफिया विभाग के अधिकरी निगम द्वारा चिन्हित भूमि और धरना स्थल पर पहुंचे। अधिकारियों की संयुक्त टीम ने ग्रामीणों से बातचीत की। प्रकरण से संबंधित सभी दस्तावेज भी देखे। एक अधिकारी ने बताया कि शासनादेश पर जांच करने आए हैं। मामले की रिपोर्ट तैयार कर शीघ्र शासन को भेजी जाएगी।
लिखित में आश्वासन मिलने पर समाप्त होगा धरना:
डंपिंग ग्राउंड का मामला कोई नया नहीं है, यह कई साल से चला आ रहा है। विधानसभा चुनाव 2022 के मद्देनजर यह चुनावी आश्वासन तो नहीं है। चुनाव संपन्न होने के बाद फिर से मुद्दा उठ जाएगा। इसलिए ग्रामीण अब लिखित में आश्वासन की मांग कर रहे हैं। जब तक लिखित में आश्वासन नहीं मिलेगा धरना जारी रहेगा।
राजीव तोमर, अध्यक्ष, जनकल्याण किसान वेलफेयर संघर्ष समिति।
शासन से नहीं मिला कोई आदेश
शासन से वेस्ट टू एनर्जी प्लांट को स्थगित किये जाने का अभी तक कोई आदेश प्राप्त नहीं हुआ है। शासन स्तर से ग्रामीण और गाजियाबाद नगर निगम के अधिकारियों की बैठक में सहमति बनाकर प्रकरण को समाप्त करने के लिए कहा गया है। सहमति के लिए वार्ता की जा रही है।
– अनुज सिंह, डीएम हापुड़।
स्थागित किये जाने के संकेत मिल रहे है। हालांकि प्लांट को शासनस्तर से स्थगित किये जाने का दावा धौलाना ब्लॉक प्रमुख निशांत शिशौदिया द्वारा धरनास्थल पर पहुंचकर ग्रामीणों के बीच और पूर्व सांसद रमेशचंद तोमर ने प्रेसवार्ता कर पत्रकारों से किया है। वहीं ग्रामीणों ने अधिकारियों से स्थगित किये जाने का आश्वासन लिखित में दिये जाने की मांग की है। लिखित में आश्वासन नहीं मिले तक धरना जारी रखने का एलान किया है। वहीं हापुड़ और गाजियाबाद खुफिया विभाग की संयुक्त टीम बृहस्पतिवार को धरनास्थल और निगम द्वारा चिन्हित भूमि पर पहुंची। टीम ने ग्रामीणों से वार्ता कर ग्राउंड रिपोर्ट तैयार की, जिसे शासन को भेजना बताया। इधर डंपिंग ग्राउंड के विरोध में गालंद पंचायत घर पर ग्रामीणों का धरना जारी रहा।

गालंद में डंपिंग ग्राउंड की चहारदीवारी के निर्माण पर लगी रोक

पिलखवा। गाजियाबाद नगर निगम द्वारा गालंद गांव में प्रस्तावित वेस्ट टू एनर्जी प्लांट के निर्माण कार्य को फिलहाल रोकने का दावा किया गया है। धौलाना के ब्लॉक प्रमुख निशांत शिशौदिया ने धरना स्थल पहुंचकर यह जानकारी दी लेकिन ग्रामीणों ने लिखित में आदेश मिलने पर ही धरना समाप्त करने का निर्णय लिया। हालांकि डीएम ने इस तरह का कोई आदेश मिलने से इंकार किया है।

धौलाना ब्लॉक प्रमुख निशांत शिशौदिया बृहस्पतिवार को गालंद स्थित पंचायत घर पर चल रहे धरने में पहुंचे। धरनारत ग्रामीणों की बीच पहुंचे ब्लॉक प्रमुख ने कहा कि इस मामले में केंद्रीय राज्यमंत्री एवं क्षेत्रिय सांसद जनरल वीके सिंह समेत अन्य जनप्रतिनिधियों ने प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से वार्ता की है। जिसके बाद शासनस्तर से डंपिंग ग्राउंड के निर्माण कार्य पर रोक लगा दी गई है। इसका आदेश भी जिला प्रशासन को मिल चुका है। जल्द ही इस संबंध में घोषणा कर दी जाएगी।


यह है मामला-

गाजियाबाद नगर निगम द्वारा गालंद गांव में कूड़ा निस्तारण के लिए वेस्ट टू एनर्जी प्लांट लगाए जाने को 44.25 एकड़ भूमि गाजियाबाद विकास प्राधिकरण से खरीदी थी। निगम के अधिकारियों का दावा है कि प्लांट में जैविक खाद और बिजली बनाई जाएगी। एक अक्तूबर को निगम ने कूड़े के डंपर चिन्हित जमीन पर भेजे थे। जिसकी सूचना मिलते ही ग्रामीण मौके पर पहुंचे और उन्होंने डंपरों को वापस कर दिया। इसी विरोध के चलते गत तीन अक्तूबर से ग्रामीण धरनारत हैं। इसी दौरान निगम ने चिन्हित जमीन की चहारदीवारी का निर्माण कार्य शुरू करा दिया। जिसे ग्रामीणों ने ढहा दिया। मामले में निगम के जेई योगेश कुमार द्वारा 34 नामजद समेत 250 से अधिक ग्रामीणों के खिलाफ पिलखुवा थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई गई है।

खुफिया विभाग ने तैयार की रिपोर्ट

बृहस्पतिवार को गाजियाबाद और हापुड़ के खुफिया विभाग के अधिकरी निगम द्वारा चिन्हित भूमि और धरना स्थल पर पहुंचे। अधिकारियों की संयुक्त टीम ने ग्रामीणों से बातचीत की। प्रकरण से संबंधित सभी दस्तावेज भी देखे। एक अधिकारी ने बताया कि शासनादेश पर जांच करने आए हैं। मामले की रिपोर्ट तैयार कर शीघ्र शासन को भेजी जाएगी।

लिखित में आश्वासन मिलने पर समाप्त होगा धरना:

डंपिंग ग्राउंड का मामला कोई नया नहीं है, यह कई साल से चला आ रहा है। विधानसभा चुनाव 2022 के मद्देनजर यह चुनावी आश्वासन तो नहीं है। चुनाव संपन्न होने के बाद फिर से मुद्दा उठ जाएगा। इसलिए ग्रामीण अब लिखित में आश्वासन की मांग कर रहे हैं। जब तक लिखित में आश्वासन नहीं मिलेगा धरना जारी रहेगा।

राजीव तोमर, अध्यक्ष, जनकल्याण किसान वेलफेयर संघर्ष समिति।

शासन से नहीं मिला कोई आदेश

शासन से वेस्ट टू एनर्जी प्लांट को स्थगित किये जाने का अभी तक कोई आदेश प्राप्त नहीं हुआ है। शासन स्तर से ग्रामीण और गाजियाबाद नगर निगम के अधिकारियों की बैठक में सहमति बनाकर प्रकरण को समाप्त करने के लिए कहा गया है। सहमति के लिए वार्ता की जा रही है।

– अनुज सिंह, डीएम हापुड़।

स्थागित किये जाने के संकेत मिल रहे है। हालांकि प्लांट को शासनस्तर से स्थगित किये जाने का दावा धौलाना ब्लॉक प्रमुख निशांत शिशौदिया द्वारा धरनास्थल पर पहुंचकर ग्रामीणों के बीच और पूर्व सांसद रमेशचंद तोमर ने प्रेसवार्ता कर पत्रकारों से किया है। वहीं ग्रामीणों ने अधिकारियों से स्थगित किये जाने का आश्वासन लिखित में दिये जाने की मांग की है। लिखित में आश्वासन नहीं मिले तक धरना जारी रखने का एलान किया है। वहीं हापुड़ और गाजियाबाद खुफिया विभाग की संयुक्त टीम बृहस्पतिवार को धरनास्थल और निगम द्वारा चिन्हित भूमि पर पहुंची। टीम ने ग्रामीणों से वार्ता कर ग्राउंड रिपोर्ट तैयार की, जिसे शासन को भेजना बताया। इधर डंपिंग ग्राउंड के विरोध में गालंद पंचायत घर पर ग्रामीणों का धरना जारी रहा।



Source link

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Hapur

Hapur News – गौतमबुद्धनगर जिला पंचायत अध्यक्ष और सांसद प्रतिनिधि की कार से उतारा हूटर

Published

on

By


ख़बर सुनें

गौतमबुद्धनगर जिला पंचायत अध्यक्ष और सांसद प्रतिनिधि की कार से उतारा हूटर
पिलखुवा। पुलिस ने शनिवार की देर शाम जिला पंचायत अध्यक्ष गौतमबुद्धनगर की कार को रोककर उसमें लगा हूटर निकाला और दस हजार रुपये का जुर्माना वसूला। इसके बाद रविवार को छिजारसी टोल प्लाजा पर सांसद प्रतिनिधि और एक विधायक की कार से हूटर उतार चालान किया।
कोतवाली प्रभारी निरीक्षक अभिनव पुंडीर ने बताया कि चुनाव आयोग द्वारा प्रदेश में आदर्श आचार संहिता जारी की हुई है। जिसका सख्ती से पालन कराया जा रहा है। पिछले एक सप्ताह में लगभग ढाई लाख रुपये विभिन्न प्रकार के चालान कर वसूले किये जा चुके हैं। उन्होंने बताया कि शनिवार की देररात बस स्टैंड और छिजारसी टोल प्लाजा पर चेकिंग अभियान चलाया गया। अभियान के दौरान पुलिस ने नियमानुसार कार्रवाई की।

गौतमबुद्धनगर जिला पंचायत अध्यक्ष और सांसद प्रतिनिधि की कार से उतारा हूटर

पिलखुवा। पुलिस ने शनिवार की देर शाम जिला पंचायत अध्यक्ष गौतमबुद्धनगर की कार को रोककर उसमें लगा हूटर निकाला और दस हजार रुपये का जुर्माना वसूला। इसके बाद रविवार को छिजारसी टोल प्लाजा पर सांसद प्रतिनिधि और एक विधायक की कार से हूटर उतार चालान किया।

कोतवाली प्रभारी निरीक्षक अभिनव पुंडीर ने बताया कि चुनाव आयोग द्वारा प्रदेश में आदर्श आचार संहिता जारी की हुई है। जिसका सख्ती से पालन कराया जा रहा है। पिछले एक सप्ताह में लगभग ढाई लाख रुपये विभिन्न प्रकार के चालान कर वसूले किये जा चुके हैं। उन्होंने बताया कि शनिवार की देररात बस स्टैंड और छिजारसी टोल प्लाजा पर चेकिंग अभियान चलाया गया। अभियान के दौरान पुलिस ने नियमानुसार कार्रवाई की।



Source link

Continue Reading

Hapur

Hapur Theft In Vaishno Devi Dham Mandir Many Valuables Items Including Donation Box Cash Stolen – हापुड़: वैष्णों देवी धाम मंदिर में लाखों की चोरी, आभूषण मुकुट और दानपात्र की नकदी भी उड़ा ले गए

Published

on

By


अमर उजाला नेटवर्क, हापुड़
Published by: पूजा त्रिपाठी
Updated Sat, 22 Jan 2022 04:02 PM IST

सार

चोरी की सूचना पर पहुंचे मंदिर के संचालक संजीव गुप्ता ने बताया कि चोरी के संबंध में पुलिस को तहरीर दी गई है।

हापुड़ के वैष्णो देवी धाम मंदिर में लाखों की चोरी
– फोटो : अमर उजाला

ख़बर सुनें

हापुड़ के धौलाना थाना क्षेत्र के सपनावत मां वैष्णों देवी धाम मंदिर में शुक्रवार रात ताला तोड़कर घुसे चोरों ने लाखों के आभूषण, मुकुट, छत्र और दान पात्र की नकदी चोरी कर ली। तड़के जब  पूजा अर्चना के लिए पुजारी मंदिर में पहुंचे तो उन्हें चोरी के बारे में पता चला। सीसीटीवी में कुछ चोर करते नजर आ रहे हैं, जिसके आधार पर पुलिस उनकी पहचान करने का प्रयास कर रही है।

मंदिर के पुजारी श्याम वशिष्ठ ने बताया कि मां वैष्णों धाम मंदिर के मुख्य द्वार पर जाल में जंजीर लगी है जिसपर ताला लगा हुआ था। मंदिर का मुख्य द्वार पर ताले नहीं लगाए जाते। शनिवार रात चोर जाल पर लगी जंजीर को काटकर अंदर घुस गए।

चोरों ने मंदिर की दूसरी मंजिल  पर चारों गेट के ताले तोड़ कर मंदिर में स्थापित सभी मूर्तियों के सोने चांदी के मुकुट, चांदी की चरण पादुकाएं, दानपात्रों की पेटी काट कर उसमें आई धनराशि चोरी कर ली। चोरी किए गए सामान की कीमत लाखों में बताई जा रही है।

चोरी की सूचना पर पहुंचे मंदिर के संचालक संजीव गुप्ता ने बताया कि चोरी के संबंध में पुलिस को तहरीर दी गई है। मामले की जांच करने पहुंचे सीओ पिलखुवा डॉ तेजवीर सिंह ने सीसीटीवी कैमरों की फुटेज चैक की, जिसमें कुछ चोर मंदिर में चोरी की घटना को अंजाम देते नजर आ रहे हैं। घटना से श्रद्धालुओं में रोष व्याप्त है और घटना के खुलासे की मांग की जा रही है।

सीओ तेजवीर सिंह का कहना है कि मंदिर की फुटेज के आधार पर चोरों की पहचान करने का प्रयास किया जा रहा है। जल्द ही घटना का खुलासा कर दिया जाएगा।

विस्तार

हापुड़ के धौलाना थाना क्षेत्र के सपनावत मां वैष्णों देवी धाम मंदिर में शुक्रवार रात ताला तोड़कर घुसे चोरों ने लाखों के आभूषण, मुकुट, छत्र और दान पात्र की नकदी चोरी कर ली। तड़के जब  पूजा अर्चना के लिए पुजारी मंदिर में पहुंचे तो उन्हें चोरी के बारे में पता चला। सीसीटीवी में कुछ चोर करते नजर आ रहे हैं, जिसके आधार पर पुलिस उनकी पहचान करने का प्रयास कर रही है।

मंदिर के पुजारी श्याम वशिष्ठ ने बताया कि मां वैष्णों धाम मंदिर के मुख्य द्वार पर जाल में जंजीर लगी है जिसपर ताला लगा हुआ था। मंदिर का मुख्य द्वार पर ताले नहीं लगाए जाते। शनिवार रात चोर जाल पर लगी जंजीर को काटकर अंदर घुस गए।

चोरों ने मंदिर की दूसरी मंजिल  पर चारों गेट के ताले तोड़ कर मंदिर में स्थापित सभी मूर्तियों के सोने चांदी के मुकुट, चांदी की चरण पादुकाएं, दानपात्रों की पेटी काट कर उसमें आई धनराशि चोरी कर ली। चोरी किए गए सामान की कीमत लाखों में बताई जा रही है।

चोरी की सूचना पर पहुंचे मंदिर के संचालक संजीव गुप्ता ने बताया कि चोरी के संबंध में पुलिस को तहरीर दी गई है। मामले की जांच करने पहुंचे सीओ पिलखुवा डॉ तेजवीर सिंह ने सीसीटीवी कैमरों की फुटेज चैक की, जिसमें कुछ चोर मंदिर में चोरी की घटना को अंजाम देते नजर आ रहे हैं। घटना से श्रद्धालुओं में रोष व्याप्त है और घटना के खुलासे की मांग की जा रही है।

सीओ तेजवीर सिंह का कहना है कि मंदिर की फुटेज के आधार पर चोरों की पहचान करने का प्रयास किया जा रहा है। जल्द ही घटना का खुलासा कर दिया जाएगा।



Source link

Continue Reading

Hapur

Hapur News – गढ़ में बदले समीकरण, बसपा से मदन चौहान प्रत्याशी घोषित

Published

on

By


बसपा प्रत्याशी मदन चौहान- फाइल 20 से संबंधित फोटो
– फोटो : GARH

ख़बर सुनें

गढ़ में बदले समीकरण, बसपा से मदन चौहान प्रत्याशी घोषित
गढ़मुक्तेश्वर। गढ़ विधानसभा सीट से तीन बार लगातार विधायक और मनोरंजन कर मंत्री रहे मदन चौहान बसपा से चुनाव लड़ेंगे। सपा व रालोद गठबंधन से टिकट न मिलने के चलते मदन चौहान ने बसपा का दामन थाम लिया। पार्टी मुखिया के आदेश पर हाजी आरिफ का टिकट काटकर मदन चौहान को दिया गया है।
मदन चौहान एनडी तिवारी की पार्टी से 25 वर्ष पहले गढ़ विधानसभा से चुनाव लड़े थे, लेकिन उस समय उन्हें हार का सामना करना पड़ा। उसके बाद उन्होंने समाजवादी पार्टी का दामन थामा। जिसके बाद लगातार तीन बार गढ़ विधानसभा सीट से सपा से लड़कर जीत दर्ज की, जिसके चलते तत्कालीन सीएम अखिलेश यादव ने उन्हें प्रदेश सरकार में ढाई वर्ष के लिए मनोरंजन कर मंत्री भी बनाया था। लेकिन वर्ष 2017 में भाजपा की लहर में वह तीसरे नंबर पर रहे। लेकिन हार के बावजूद भी उन्होंने क्षेत्र नहीं छोड़ा और लगातार क्षेत्र के लोगों के बीच बने रहे। लेकिन इस बार सपा हाईकमान ने मेरठ के पूर्व सांसद हरीश पाल की पुत्रवधू नैना सिंह को गढ़ से प्रत्याशी घोषित कर दिया। जिससे नाराज होकर बुधवार को उन्होंने बसपा की सदस्यता ग्रहण कर ली।
बसपा जिलाध्यक्ष देवेंद्र भारती ने बताया कि बसपा सुप्रीमो मायावती ने पूर्व में गढ़ विधानसभा से घोषित प्रत्याशी हाजी आरिफ का टिकट काटकर मदन चौहान को प्रत्याशी बनाया है। जो संभवत: बृहस्पतिवार को नामांकन करेंगे। संवाद

गढ़ में बदले समीकरण, बसपा से मदन चौहान प्रत्याशी घोषित

गढ़मुक्तेश्वर। गढ़ विधानसभा सीट से तीन बार लगातार विधायक और मनोरंजन कर मंत्री रहे मदन चौहान बसपा से चुनाव लड़ेंगे। सपा व रालोद गठबंधन से टिकट न मिलने के चलते मदन चौहान ने बसपा का दामन थाम लिया। पार्टी मुखिया के आदेश पर हाजी आरिफ का टिकट काटकर मदन चौहान को दिया गया है।

मदन चौहान एनडी तिवारी की पार्टी से 25 वर्ष पहले गढ़ विधानसभा से चुनाव लड़े थे, लेकिन उस समय उन्हें हार का सामना करना पड़ा। उसके बाद उन्होंने समाजवादी पार्टी का दामन थामा। जिसके बाद लगातार तीन बार गढ़ विधानसभा सीट से सपा से लड़कर जीत दर्ज की, जिसके चलते तत्कालीन सीएम अखिलेश यादव ने उन्हें प्रदेश सरकार में ढाई वर्ष के लिए मनोरंजन कर मंत्री भी बनाया था। लेकिन वर्ष 2017 में भाजपा की लहर में वह तीसरे नंबर पर रहे। लेकिन हार के बावजूद भी उन्होंने क्षेत्र नहीं छोड़ा और लगातार क्षेत्र के लोगों के बीच बने रहे। लेकिन इस बार सपा हाईकमान ने मेरठ के पूर्व सांसद हरीश पाल की पुत्रवधू नैना सिंह को गढ़ से प्रत्याशी घोषित कर दिया। जिससे नाराज होकर बुधवार को उन्होंने बसपा की सदस्यता ग्रहण कर ली।

बसपा जिलाध्यक्ष देवेंद्र भारती ने बताया कि बसपा सुप्रीमो मायावती ने पूर्व में गढ़ विधानसभा से घोषित प्रत्याशी हाजी आरिफ का टिकट काटकर मदन चौहान को प्रत्याशी बनाया है। जो संभवत: बृहस्पतिवार को नामांकन करेंगे। संवाद



Source link

Continue Reading

Trending