Connect with us

Aligarh

Now Women Police Will Be Seen In Every Locality… Will Make Women Aware – अलीगढ़ः अब हर मोहल्ले में दिखेगी महिला पुलिस… महिलाओं को करेगी जागरूक

Published

on


ख़बर सुनें

मिशन शक्ति अभियान के तहत अलीगढ़ सहित प्रदेश के सभी जिलों में पुलिस में महिला बीट सिस्टम शुरू किया गया है। इसी क्रम में 21 अगस्त से अब तक अपने जिले में 173 महिला बीट बनाई गई हैं। इन बीटों में एक-एक महिला सिपाही की ड्यूटी लगाई गई है। यह बीट सिस्टम प्रभावी ढंग से काम करे, इसकी मॉनीटरिंग के लिए एसपी क्राइम रजनी को नोडल अफसर बनाया गया है। सबसे खास बात यह है कि अब महिला अपराध की किसी भी सूचना पर जब थाना पुलिस घटनास्थल पर जाएगी तो उस बीट की बीट प्रभारी सिपाही को भी साथ जाना होगा।
एसएसपी कलानिधि नैथानी बताते हैं कि महिला बीट सिस्टम लागू करने के पीछे उद्देश्य है कि किसी भी महिला अपराध पर जब पुलिस पहुंचती है तो महिला पुलिस होने पर वह बेहतर ढंग से उस विषय में जानकारी देती है। इसके अलावा बीट की महिला सिपाहियों को जिम्मेदारी दी गई है कि वह अपने-अपने बीट वाले इलाके में महिलाओं को पुलिस सिस्टम, महिला सुरक्षा आदि के प्रति जागरूक करें। बताएं कि किसी भी अपराध पर किस तरह से किन नंबरों पर पुलिस से संपर्क करना है। साथ में हर बीट में महिला पुलिस को महिला मित्र बनाने हैं।
– महिला सुरक्षा के प्रति पुलिस सिस्टम को मजबूत करने और महिलाओं को पुलिस से संपर्क के लिए जागरूक करने आदि के उद्देश्य से जिले में महिला बीट सिस्टम लागू किया गया है। इसकी शुरुआत के साथ बीट में महिला सिपाही पहुंचकर महिलाओं को जागरूक कर रही हैं।
– कलानिधि नैथानी, एसएसपी
अपराजिता अभियान से जुड़कर भी चलेगा जागरूकता अभियान
एसएसपी कलानिधि नैथानी के अनुसार अमर उजाला के अपराजिता अभियान के तहत भी महिलाओं को महिला सुरक्षा के प्रति जागरूक किया जाएगा। इसके लिए बीट सिपाहियों की मदद से मोहल्लों में जागरूकता कैंपेन शुरू किया जाएगा। जल्द ही इसका शेड्यूल बनाकर कार्यक्रम शुरू कराया जाएगा। उन्होंने बताया कि अपराजिता अभियान के तहत महिलाओं को पुलिस से जोड़कर उनका मित्र बनाने में और ज्यादा आसानी होगी।
थाना वार ये हैं मोहल्ले और बीट
छर्रा के 62 मोहल्लों में 5 बीट, देहली गेट के 96 में 9, सिविल लाइंस के 102 में 8, दादों के 135 में 3, जवां के 87 में 5, खैर के 151 में 14, पालीमुकीमपुर के 87 में 5, अतरौली के 177 में 3, गोंडा के 133 में 10, हरदुआगंज के 122 में 5, इगलास के 334 में 8, पिसावा के 56 में 4, सासनी गेट के 147 में 8, बरला के 55 में 5, चंडौस के 60 में 4, गांधीपार्क के 104 में 4, लोधा के 73 में 3, बन्नादेवी के 158 में 6, गंगीरी के 84 में 5, रोरावर के 80 में 2, गोधा के 41 में 3, कोतवाली के 91 में 5, क्वार्सी के 151 में 7, मडराक के 34 में 4, टप्पल के 122 में 23, महुआ खेड़ा के 63 में 2, अकराबाद के 125 में 5, गभाना के 73 में 2 और विजयगढ़ के 61 मोहल्लों में 6 बीट बनाई गई हैं।
ये हैं सर्वाधिक बीट वाले थाने
-23 बीट टप्पल थाने में
-14 बीट खैर थाने में
-10 बीट गोंडा थाने में

मिशन शक्ति अभियान के तहत अलीगढ़ सहित प्रदेश के सभी जिलों में पुलिस में महिला बीट सिस्टम शुरू किया गया है। इसी क्रम में 21 अगस्त से अब तक अपने जिले में 173 महिला बीट बनाई गई हैं। इन बीटों में एक-एक महिला सिपाही की ड्यूटी लगाई गई है। यह बीट सिस्टम प्रभावी ढंग से काम करे, इसकी मॉनीटरिंग के लिए एसपी क्राइम रजनी को नोडल अफसर बनाया गया है। सबसे खास बात यह है कि अब महिला अपराध की किसी भी सूचना पर जब थाना पुलिस घटनास्थल पर जाएगी तो उस बीट की बीट प्रभारी सिपाही को भी साथ जाना होगा।

एसएसपी कलानिधि नैथानी बताते हैं कि महिला बीट सिस्टम लागू करने के पीछे उद्देश्य है कि किसी भी महिला अपराध पर जब पुलिस पहुंचती है तो महिला पुलिस होने पर वह बेहतर ढंग से उस विषय में जानकारी देती है। इसके अलावा बीट की महिला सिपाहियों को जिम्मेदारी दी गई है कि वह अपने-अपने बीट वाले इलाके में महिलाओं को पुलिस सिस्टम, महिला सुरक्षा आदि के प्रति जागरूक करें। बताएं कि किसी भी अपराध पर किस तरह से किन नंबरों पर पुलिस से संपर्क करना है। साथ में हर बीट में महिला पुलिस को महिला मित्र बनाने हैं।

– महिला सुरक्षा के प्रति पुलिस सिस्टम को मजबूत करने और महिलाओं को पुलिस से संपर्क के लिए जागरूक करने आदि के उद्देश्य से जिले में महिला बीट सिस्टम लागू किया गया है। इसकी शुरुआत के साथ बीट में महिला सिपाही पहुंचकर महिलाओं को जागरूक कर रही हैं।

– कलानिधि नैथानी, एसएसपी

अपराजिता अभियान से जुड़कर भी चलेगा जागरूकता अभियान

एसएसपी कलानिधि नैथानी के अनुसार अमर उजाला के अपराजिता अभियान के तहत भी महिलाओं को महिला सुरक्षा के प्रति जागरूक किया जाएगा। इसके लिए बीट सिपाहियों की मदद से मोहल्लों में जागरूकता कैंपेन शुरू किया जाएगा। जल्द ही इसका शेड्यूल बनाकर कार्यक्रम शुरू कराया जाएगा। उन्होंने बताया कि अपराजिता अभियान के तहत महिलाओं को पुलिस से जोड़कर उनका मित्र बनाने में और ज्यादा आसानी होगी।

थाना वार ये हैं मोहल्ले और बीट

छर्रा के 62 मोहल्लों में 5 बीट, देहली गेट के 96 में 9, सिविल लाइंस के 102 में 8, दादों के 135 में 3, जवां के 87 में 5, खैर के 151 में 14, पालीमुकीमपुर के 87 में 5, अतरौली के 177 में 3, गोंडा के 133 में 10, हरदुआगंज के 122 में 5, इगलास के 334 में 8, पिसावा के 56 में 4, सासनी गेट के 147 में 8, बरला के 55 में 5, चंडौस के 60 में 4, गांधीपार्क के 104 में 4, लोधा के 73 में 3, बन्नादेवी के 158 में 6, गंगीरी के 84 में 5, रोरावर के 80 में 2, गोधा के 41 में 3, कोतवाली के 91 में 5, क्वार्सी के 151 में 7, मडराक के 34 में 4, टप्पल के 122 में 23, महुआ खेड़ा के 63 में 2, अकराबाद के 125 में 5, गभाना के 73 में 2 और विजयगढ़ के 61 मोहल्लों में 6 बीट बनाई गई हैं।

ये हैं सर्वाधिक बीट वाले थाने

-23 बीट टप्पल थाने में

-14 बीट खैर थाने में

-10 बीट गोंडा थाने में



Source link

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Aligarh

Voters Should Be Aware Of Their Rights And Recognize The Importance Of Voting: Dm – अलीगढ़ः मतदाता अपने अधिकारों के प्रति सजग रहकर मतदान के महत्व को पहचानें : डीएम

Published

on

By


राष्ट्रीय मतदाता दिवस पर कलेक्ट्रेट  में कर्मचारियों को शपथ दिलाती  जिलाधिकारी।

राष्ट्रीय मतदाता दिवस पर कलेक्ट्रेट में कर्मचारियों को शपथ दिलाती जिलाधिकारी।
– फोटो : CITY OFFICE

ख़बर सुनें

डीएम व जिला निर्वाचन अधिकारी सेल्वा कुमारी जे. ने कहा है कि मतदाता अपने अधिकारों के प्रति सजग रहें और मतदान के महत्व को पहचानें। खासकर युवा मतदाता अपनी जिम्मेदारियों को निभाते हुए प्रदेश में अच्छी सरकार के गठन में निष्पक्ष रूप से मतदान करें। डीएम मंगलवार को कलेक्ट्रेट पर राष्ट्रीय मतदाता दिवस पर आयोजित जागरूकता कार्यक्रम को संबोधित कर रही थीं।
उन्होंने कहा कि आयोग इस बार बुजुर्गों व दिव्यांगों को बैलेट पेपर के जरिये अपने मताधिकार का उपयोग करने का अवसर उपलब्ध करा रहा है, ताकि मतदान का प्रतिशत बढ़ सके। उन्होंने शत-प्रतिशत मतदान की शपथ दिलाई और जेंडर रेशियो, नए मतदाता, महिला एवं युवा मतदाताओं को जोड़ने के लिए बीएलओ को सम्मानित किया। डीएम ने निर्वाचन आयोग के स्तर से बेस्ट इलेक्टोरल अवार्ड दिए जाने पर जनपदवासियों, कार्मिकों, मीडियाकर्मियों को श्रेय देते हुए कहा कि सभी की जागरूकता एवं मेहनत से ऐसा संभव हो सका है। कार्यक्रम में स्कूली बच्चों, एनसीसी कैडेट्स, स्काउड गाइड एवं शिक्षकों ने आकर्षक पोस्टर, रंगोली, लघु नाटिका के माध्यम से फिल्म शोले की चरित्र बसंती, दीनानाथ और वीरू के किरदार को जीवंत कर दिखाया। टीकाराम कॉलेज की छात्राओं ने ’लोकतंत्र मजबूत बनाकर भारत का उद्धार करें, जाति-धर्म की तोड़ दीवारें आओ हम मतदान करें’ गीत प्रस्तुत किया। एचबी इंटर कॉलेज के छात्रों ने लघु नाटिका के माध्यम से युवा देश की धड़कन हैं, मतदान अवश्य करें। कार्यक्रम में नन्हे-मुन्ने बच्चों ने भी गीत, कविता एवं स्लोगन के माध्यम से शत-प्रतिशत मतदान करने का संदेश दिया। सीडीओ अंकित खंडेलवाल ने लोगों से ज्यादा से ज्यादा संख्या में मतदान करने की अपील की। एडीएम सिटी राकेश कुमार पटेल व एडीएम प्रशासन डीपी पाल ने लोगों से खुद के अलावा दूसरों को प्रेरित कर शत-प्रतिशत मतदान करने की अपील की।
इन्हें किया सम्मानित
डीएम ने एडीएम प्रशासन डीपी पाल, डीआईओएस डॉ. धर्मेंद्र कुमार शर्मा, बीएसए सतेंद्र कुमार ढ़ाका, एडीआईओएस मनोरमा ठाकुर, जिला सूचना अधिकारी संदीप कुमार, ईडीएम मनोज राजपूत को प्रशस्ति पत्र एवं मेडल देकर सम्मानित किया गया। इसके अलावा बीएलओ नेहा वर्मा, सरताज आलम, विनोद कुमार, कृष्णा सूर्यवंशी, भारती, ममता रानी वर्मा, कमलेश, राधा गुप्ता, अनीता, कांति, ज्योति शर्मा, अनिल श्रीवास्तव, भारती तोमर, अर्चना गिरि, भावना शर्मा एवं प्रियंका को भी सम्मानित किया गया।
विकास भवन में डीडीओ ने दिलाई शपथ
विकास भवन के गांधी सभागार में आयोजित कार्यक्रम में जिला विकास अधिकारी भरत कुमार मिश्र ने अधिकारियों एवं कर्मचारियों को मतदान करने की शपथ दिलाई। इस मौके पर जिला कार्यक्रम अधिकारी श्रेयस कुमार, जिला दिव्यांगजन सशक्तीकरण अधिकारी बीपी सत्यार्थी, जिला समाज कल्याण अधिकारी (विकास) संध्या रानी बघेल आदि मौजूद रहे।
एसएसपी ने दिलाई मतदान करने की अपील
एसएसपी कलानिधि नैथानी ने अपने कार्यालय में ‘राष्ट्रीय मतदाता दिवस’ के मौके पर अधीनस्थ सभी अधिकारी व कर्मचारियों को स्वतंत्र, निष्पक्ष एवं शांतिपूर्ण निर्वाचन की गरिमा को अक्षुण्य रखते हुए निर्भीक होकर धर्म, वर्ग, जाति, समुदाय, भाषा अथवा अन्य किसी भी प्रलोभन से प्रभावित हुए बिना अपने मताधिकार का प्रयोग करने के लिए शपथ दिलाई। इस मौके पर एसपी देहात शुभम पटेल, एसपी प्रज्ञान महेंद्र कुमार, सीओ बरला सुमन कनौजिया आदि मौजूद रहे।
विधानसभा सामान्य निर्वाचन 2022 में प्रयोगार्थ ईवीएम एवं वीवीपैट मशीनों का प्रथम रेंडमाइजेशन (विधानसभावार) के उपरांत द्वितीय रेंडमाइजेशन रिटर्निंग ऑफिसर द्वारा 27 जनवरी को समय 4:30 मा. प्रेक्षकगढ़ की उपस्थिति में मान्यता प्राप्त राष्ट्रीय एवं राज्जीय दलों के अध्यक्ष/ सचिव एवं विधानसभा सामान्य निर्वाचन 2022 निर्वाचन लड़ने वाले प्रत्याशी एवं समस्त सहायक रिटर्निंग ऑफिसर एवं नोडल अधिकारी ईवीएम/ प्रभारी/ सहायक प्रभारी अधिकारी ईवीएम/ वीवीपैट की उपस्थिति में कलेक्ट्रेट सभागार में किया जाएगा। इस संबंध में श्री राकेश कुमार पटेल अपर जिला अधिकारी (नगर)/ उप जिला निर्वाचन अधिकारी अलीगढ़ ने प्रेस विज्ञप्ति जारी की है।

डीएम व जिला निर्वाचन अधिकारी सेल्वा कुमारी जे. ने कहा है कि मतदाता अपने अधिकारों के प्रति सजग रहें और मतदान के महत्व को पहचानें। खासकर युवा मतदाता अपनी जिम्मेदारियों को निभाते हुए प्रदेश में अच्छी सरकार के गठन में निष्पक्ष रूप से मतदान करें। डीएम मंगलवार को कलेक्ट्रेट पर राष्ट्रीय मतदाता दिवस पर आयोजित जागरूकता कार्यक्रम को संबोधित कर रही थीं।

उन्होंने कहा कि आयोग इस बार बुजुर्गों व दिव्यांगों को बैलेट पेपर के जरिये अपने मताधिकार का उपयोग करने का अवसर उपलब्ध करा रहा है, ताकि मतदान का प्रतिशत बढ़ सके। उन्होंने शत-प्रतिशत मतदान की शपथ दिलाई और जेंडर रेशियो, नए मतदाता, महिला एवं युवा मतदाताओं को जोड़ने के लिए बीएलओ को सम्मानित किया। डीएम ने निर्वाचन आयोग के स्तर से बेस्ट इलेक्टोरल अवार्ड दिए जाने पर जनपदवासियों, कार्मिकों, मीडियाकर्मियों को श्रेय देते हुए कहा कि सभी की जागरूकता एवं मेहनत से ऐसा संभव हो सका है। कार्यक्रम में स्कूली बच्चों, एनसीसी कैडेट्स, स्काउड गाइड एवं शिक्षकों ने आकर्षक पोस्टर, रंगोली, लघु नाटिका के माध्यम से फिल्म शोले की चरित्र बसंती, दीनानाथ और वीरू के किरदार को जीवंत कर दिखाया। टीकाराम कॉलेज की छात्राओं ने ’लोकतंत्र मजबूत बनाकर भारत का उद्धार करें, जाति-धर्म की तोड़ दीवारें आओ हम मतदान करें’ गीत प्रस्तुत किया। एचबी इंटर कॉलेज के छात्रों ने लघु नाटिका के माध्यम से युवा देश की धड़कन हैं, मतदान अवश्य करें। कार्यक्रम में नन्हे-मुन्ने बच्चों ने भी गीत, कविता एवं स्लोगन के माध्यम से शत-प्रतिशत मतदान करने का संदेश दिया। सीडीओ अंकित खंडेलवाल ने लोगों से ज्यादा से ज्यादा संख्या में मतदान करने की अपील की। एडीएम सिटी राकेश कुमार पटेल व एडीएम प्रशासन डीपी पाल ने लोगों से खुद के अलावा दूसरों को प्रेरित कर शत-प्रतिशत मतदान करने की अपील की।

इन्हें किया सम्मानित

डीएम ने एडीएम प्रशासन डीपी पाल, डीआईओएस डॉ. धर्मेंद्र कुमार शर्मा, बीएसए सतेंद्र कुमार ढ़ाका, एडीआईओएस मनोरमा ठाकुर, जिला सूचना अधिकारी संदीप कुमार, ईडीएम मनोज राजपूत को प्रशस्ति पत्र एवं मेडल देकर सम्मानित किया गया। इसके अलावा बीएलओ नेहा वर्मा, सरताज आलम, विनोद कुमार, कृष्णा सूर्यवंशी, भारती, ममता रानी वर्मा, कमलेश, राधा गुप्ता, अनीता, कांति, ज्योति शर्मा, अनिल श्रीवास्तव, भारती तोमर, अर्चना गिरि, भावना शर्मा एवं प्रियंका को भी सम्मानित किया गया।

विकास भवन में डीडीओ ने दिलाई शपथ

विकास भवन के गांधी सभागार में आयोजित कार्यक्रम में जिला विकास अधिकारी भरत कुमार मिश्र ने अधिकारियों एवं कर्मचारियों को मतदान करने की शपथ दिलाई। इस मौके पर जिला कार्यक्रम अधिकारी श्रेयस कुमार, जिला दिव्यांगजन सशक्तीकरण अधिकारी बीपी सत्यार्थी, जिला समाज कल्याण अधिकारी (विकास) संध्या रानी बघेल आदि मौजूद रहे।

एसएसपी ने दिलाई मतदान करने की अपील

एसएसपी कलानिधि नैथानी ने अपने कार्यालय में ‘राष्ट्रीय मतदाता दिवस’ के मौके पर अधीनस्थ सभी अधिकारी व कर्मचारियों को स्वतंत्र, निष्पक्ष एवं शांतिपूर्ण निर्वाचन की गरिमा को अक्षुण्य रखते हुए निर्भीक होकर धर्म, वर्ग, जाति, समुदाय, भाषा अथवा अन्य किसी भी प्रलोभन से प्रभावित हुए बिना अपने मताधिकार का प्रयोग करने के लिए शपथ दिलाई। इस मौके पर एसपी देहात शुभम पटेल, एसपी प्रज्ञान महेंद्र कुमार, सीओ बरला सुमन कनौजिया आदि मौजूद रहे।

विधानसभा सामान्य निर्वाचन 2022 में प्रयोगार्थ ईवीएम एवं वीवीपैट मशीनों का प्रथम रेंडमाइजेशन (विधानसभावार) के उपरांत द्वितीय रेंडमाइजेशन रिटर्निंग ऑफिसर द्वारा 27 जनवरी को समय 4:30 मा. प्रेक्षकगढ़ की उपस्थिति में मान्यता प्राप्त राष्ट्रीय एवं राज्जीय दलों के अध्यक्ष/ सचिव एवं विधानसभा सामान्य निर्वाचन 2022 निर्वाचन लड़ने वाले प्रत्याशी एवं समस्त सहायक रिटर्निंग ऑफिसर एवं नोडल अधिकारी ईवीएम/ प्रभारी/ सहायक प्रभारी अधिकारी ईवीएम/ वीवीपैट की उपस्थिति में कलेक्ट्रेट सभागार में किया जाएगा। इस संबंध में श्री राकेश कुमार पटेल अपर जिला अधिकारी (नगर)/ उप जिला निर्वाचन अधिकारी अलीगढ़ ने प्रेस विज्ञप्ति जारी की है।



Source link

Continue Reading

Aligarh

Up Election 2022 Top Ten Richest Mla Of Uttar Pradesh Assembly – यूपी के दस सबसे अमीर विधायक : किसी के पास 135 हथियार तो कोई बीएमडब्ल्यू से चलता है, जानिए विधायकों की जिंदगी में क्या है खास?

Published

on

By


सार

UP Election 2022: यूं तो राजनीति में धनबल के बारे में काफी कुछ सुनने को मिलता है, लेकिन बात यूपी की हो तो फिर क्या कहनें। 10 फरवरी से यहां सात चरणों में मतदान होने हैं। इसके पहले हम आपको सूबे के 10 सबसे अमीर विधायकों के बारे में बता रहे हैं।

UP Election 2022 : यूपी के टॉप अमीर विधायक
– फोटो : अमर उजाला

ख़बर सुनें

उत्तर प्रदेश के विधायक काफी अमीर माने जाते हैं। कम से कम आंकड़े तो यही कहते हैं। एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (एडीआर) की एक रिपोर्ट के मुताबिक, 2004 से अब तक चुने गए उत्तर प्रदेश के विधायकों की औसतन संपत्ति 4.60 करोड़ रुपये है। मतलब ज्यादातर विधायक करोड़पति ही हैं। 

‘अमर उजाला’ ने 2017 में चुने गए विधायकों का हलफनामा चेक किया और इसमें से प्रदेश के टॉप-10 अमीर विधायकों की सूची तैयार की है। इसमें छह विधायक ऐसे हैं जिन्होंने केवल 10वीं से 12वीं तक की पढ़ाई ही की है। सबसे अमीर विधायकों की सूची में पहले और दूसरे नंबर पर बहुजन समाज पार्टी के टिकट पर जीते विधायक हैं। पांच विधायक भाजपा के हैं, एक विधायक ने चुनाव के बाद भाजपा जॉइन कर ली। तीन अमीर विधायक बसपा के हैं, जबकि एक विधायक समाजवादी पार्टी का। पढ़िए पूरी लिस्ट…

गुड्डू जमाली

1. शाह आलम ऊर्फ गुड्डू जमाली
बहुजन समाज पार्टी के टिकट पर आजमगढ़ के मुबारकपुर सीट से जीत हासिल की थी। मायावती ने उन्हें बसपा विधानमंडल दल का नेता भी बनाया था, लेकिन नवंबर 2021 में उन्होंने बसपा को ही झटका दे दिया। अब वह समाजवादी पार्टी में शामिल हो चुके हैं। पेशे से कारोबारी हैं। 

  • 2017 में चुनाव आयोग को दिए हलफनामे के आधार पर जमाली के पास कुल करीब 118 करोड़ की संपत्ति है। 
  • जामिया मिलिया इस्लामिया से 1993 में बी.कॉम की पढ़ाई की है। 
  • जमाली के ऊपर 2017 तक कोई आपराधिक मुकदमा दर्ज नहीं था। 
  • उनके पास एक पिस्टल और एक राइफल है। 
  • जमाली के नाम एक टोयटा कार है। 
  • 2.70 करोड़ के करीब की एग्रीकल्चर लैंड और 2.32 करोड़ की नॉन एग्रीकल्चर लैंड है। 

गोरखपुर के चिल्लूपार विधानसभा से बहुजन समाज पार्टी के टिकट पर 2017 में जीत हासिल की थी। हाल ही में उन्हें पार्टी से बर्खास्त कर दिया गया है। गोरखपुर के बाहुबली नेता रहे हरिशंकर तिवारी के बेटे विनय शंकर समाजवादी पार्टी का दामन थाम चुके हैं। 

  • 2017 में दिए गए हलफनामे के मुताबिक विनय शंकर के पास करीब 68 करोड़ रुपये की चल-अचल संपत्ति है। 
  • उन्होंने लखनऊ यूनिवर्सिटी से 1987 में वकालत की पढ़ाई की है।  
  • तिवारी के ऊपर 2017 तक कोई आपराधिक मुकदमा दर्ज नहीं था। 
  • इनके नाम एक एनपी बोर राइफल और एक पिस्टल है।
  • विनय शंकर को गाड़ियों का शौक है। इन्होंने 2017 से पहले ही शेरवले क्रूज बाइक खरीद ली थी। इसकी कीमत करीब 15 लाख की है। 
  • तिवारी के पास 27 लाख की टोयटा फॉर्च्यूनर और 21 लाख की फोर्ड एंडवर कार भी है। 
  • 10.37 करोड़ की एग्रीकल्चर लैंड और 22.95 करोड़ की नॉन एग्रीकल्चर लैंड भी तिवारी के नाम दर्ज है। 

बीजेपी की विधायक रानी पक्षालिका सिंह आगरा की बाह विधानसभा सीट से जीतकर सदन पहुंचीं थीं। पक्षालिका सिंह सपा सरकार में मंत्री रहे राजा अरिदमन सिंह की पत्नी हैं। पहले इनका परिवार मुलायम सिंह यादव और अखिलेश यादव की समाजवादी पार्टी के साथ था लेकिन 2017 में पक्षालिका सिंह ने बीजेपी का दामन थाम लिया था। 

  • रानी पक्षालिका सिंह यूपी की सबसे अमीर महिला विधायक हैं।
  • 2017 में उन्होंने चुनाव आयोग जो अपना हलफनामा दिया था उसमें बताया था कि उनके पास करीब 58 करोड़ रुपये की चल अचल संपत्ति है। 
  • पक्षालिका सिंह ने अपने हलफनामे में ये भी बताया था कि उनके पति और खुद के पास कुल 132 हथियार हैं। 
  • इनमें डीबीबीएल गन, पिस्टल, कार्बाइन, तलवार,चाकू, खंजर और छुरे जैसे हथियार शामिल हैं। 
  • पक्षालिका ने मद्रास के वीमेंस क्रिश्चयिन कॉलेज से 1981 में स्नातक की है। 
  • हलफनामे के मुताबिक, पक्षालिका के पास 63.97 लाख के गहने, 22 करोड़ की एग्रीकल्चर लैंड, 30.66 करोड़ की नॉन एग्रीकल्चर लैंड, 75 लाख की कॉमर्शियल और 1.25 करोड़ की रेजिडेंशियल बिल्डिंग है। 

अमीर विधायकों की सूची में चौथे नंबर पर भाजपा के कैबिनेट मंत्री नंदगोपाल गुप्ता नंदी का नाम है। नंदी इलाहाबाद दक्षिणी से चुने गए हैं। इनके पास करीब 58 करोड़ की संपत्ति है। 

  • 2017 में दिए हलफनामे के मुताबिक, नंद गोपाल गुप्ता नंदी के पास करीब 57 करोड़ रुपये की चल अचल संपत्ति है। 
  • 2007, 2012 विधानसभा और फिर 2014 लोकसभा चुनाव के मुकाबले संपत्ति में लगातार गिरावट आ रही है। 
  • 2007 में इनके पास 115 करोड़ की संपत्ति थी, जो 2012 में 95 करोड़ हो गई। इसके बाद 2014 में यह घटकर 88 करोड़ हो गई थी। 
  • नंदी ने केवल 9वीं तक की पढ़ाई की है। 
  • 22 अलग-अलग धाराओं में नंदी के खिलाफ मुकदमे दर्ज हैं। इसमें लूट, डकैती जैसे मामले भी शामिल हैं। 
  • नंदी के पास 2.22 करोड़ की नौ गाड़ियां हैं। इसमें बीएमडब्ल्यू, फोर्ड एंडेवर, रैक्स महिंद्रा, मारूती जिप्सी, महिंद्रा एक्सयूवी जैसी कार शामिल हैं। 
  • 77 लाख के गहने नंदी के पास हैं। 
  • 11.32 करोड़ रुपये की नॉन एग्रीकल्चरल लैंड, 3.72 करोड़ की कॉमर्शियल और 13.75 करोड़ की रेजिडेंशियल बिल्डिंग है। 

दस सबसे अमीर विधायकों की सूची में पांचवे नंबर पर गोंडा के करनैलगंज विधानसभा सीट से चुने गए बीजेपी विधायक अजय प्रताप सिंह का नाम है। उनके पास 49 करोड़ से अधिक की संपत्ति है। 

  • 2017 में दिए हलफनामे के मुताबिक, अजय प्रताप सिंह ने 12वीं तक की पढ़ाई ही की है। 
  • पांच अलग-अलग धाराओं में अजय के नाम मुकदमा दर्ज है। इनमें सरकारी अफसर के काम में बाधा डालने जैसे आरोप हैं। 
  • 2017 चुनाव के वक्त अजय के पास दो लाख रुपये कैश थे। 19.08 लाख रुपये बैंक खाते में थे। 
  • अजय के नाम सात अलग-अलग गाड़ियां हैं। इनकी कीमत करीब 41 लाख रुपये है। 
  • अजय के नाम 12 लाख के गहने, आठ करोड़ की एग्रीकल्चरल लैंड, दो करोड़ की नॉन एग्रीकल्चरल लैंड, पांच करोड़ की कॉमर्शियल और 31 करोड़ की रेजिडेंशियल बिल्डिंग दर्ज है।
  • करनैलगंज के विधायक के पास तीन बंदूके हैं। 

मिर्जापुर के मझवा विधानसभा सीट से बीजेपी के टिकट चुनी गई सुचिस्मिता मौर्य का नाम इस सूची में छठे नंबर पर है। उनके पास करीब 47 करोड़ की चल-अचल संपत्ति है।

  • 47 साल की सुचिस्मता मौर्य ने एमबीए किया हुआ है। 
  • 2017 में दिए गए हलफनामा के मुताबिक, इनके पास 14 लाख कैश और 14 लाख बैंक डिपोजिट है। 
  • मौर्या के पास एक गाड़ी है, जिसकी कीमत 22 लाख रुपये है। 
  • 36 लाख रुपये के गहने, 5.72 करोड़ रुपये का एग्रीकल्चरल लैंड, 2.20 करोड़ का नॉन एग्रीकल्चरल लैंड, 5 करोड़ की कॉमर्शियल और 70 लाख रुपये की रेजिडेंशियल बिल्डिंग है। 
  • सुचिस्मता मौर्य के पास एक पिस्टल है। 

पश्चिम उत्तर प्रदेश के बिजनौर जिले के नेहतौर विधानसभा सीट से चुने गए बीजेपी के ओम कुमार अमीर विधायकों की सूची में सातवें नंबर पर हैं। उनके पास करीब 44 करोड़ की संपत्ति है। 

  • 55 साल के ओम कुमार ने 12वीं तक की पढ़ाई की है। 
  • इन्होंने 2017 में अपनी चल संपत्ति यानी कैश, बैंक डिपोजिट, गाड़ी, गहने, असलहों की कीमत 19 करोड़ रुपये बताई है। 
  • इनके पास 24.40 करोड़ की अचल संपत्ति है। मतलब जमीन, घर इसमें शामिल है।

अमीर विधायकों की सूची में आठवें नंबर पर गाजिपुर जिले के सैदपुर विधानसभा सीट से चुने गए समाजवादी पार्टी के सुभाष पासी का नाम है। उनके पास करीब 41 करोड़ की संपत्ति है। हाल ही में सुभाष ने सपा छोड़कर भाजपा जॉइन कर ली। 

  • 57 साल के सुभाष पासी 10वीं तक पढ़े हैं। 1975 में उन्होंने महाराष्ट्र बोर्ड से हाईस्कूल की पढ़ाई पूरी की। 
  • 2017 में चुनाव के दौरान सुभाष के पास 3.50 लाख कैश, 7.14 लाख रुपये बैंक डिपॉजिट के तौर पर थे। 
  • सुभाष के पास 64 लाख रुपये के गहने और नौ गाड़ियां हैं। इसमें दो ट्रक भी हैं। 
  • विधायक सुभाष पासी को सोने (गोल्ड) की घड़ियों का शौक है। उनके पास दो सोने की घड़ियां हैं। 
  • इनके पास 5.82 करोड़ रुपये की एग्रीकल्चरल लैंड, 15.25 करोड़ की नॉन एग्रीकल्चरल लैंड, 2.42 करोड़ की कॉमर्शियल और 14.14 करोड़ की रेजिडेंशियल लैंड है। 

अमीर विधायकों की सूची में नौवें नंबर पर बलिया जिले के रसड़ा विधानसभा सीट से बसपा के टिकट पर चुने गए उमाशंकर सिंह का नाम शामिल है। उनके पास 40 करोड़ रुपये से अधिक की चल अचल संपत्ति है। 

  • 51 साल के उमाशंकर सिंह ने 12वीं तक की पढ़ाई की है। 
  • इनके नाम आठ अलग-अलग धाराओं में मुकदमा दर्ज है। 
  • 2017 में दिए हलफनामे के मुताबिक, उमाशंकर के पास 3.84 लाख रुपये कैश और 68 लाख रुपये बैंक डिपॉजिट है। 
  • उमाशंकर के पास 35 से ज्यादा बड़े ट्रक हैं। इसके अलावा स्कॉर्पियो, इनोवा, एंडेवर, फॉच्यूनर जैसी पांच बड़ी लग्जरी गाड़ियां हैं। 
  • इनके पास 41.30 लाख से ज्यादा के गहने और 42.56 लाख रुपये के असलहे हैं। 
  • उमाशंकर के नाम 56 लाख रुपये का एग्रीकल्चरल लैंड, 2.59 करोड़ रुपये का नॉन एग्रीकल्चरल लैंड, 15 करोड़ रुपये का रेजिडेंशियल बिल्डिंग है। 

यूपी के 10 सबसे अमीर विधायकों की सूची में आखिरी नंबर पर बागपत जिले के छपरौली विधानसभा सीट से चुने गए सहेंद्र सिंह का नाम शामिल है। 2017 में सहेंद्र ने आरएलडी के टिकट पर चुनाव जीता था, लेकिन बाद में वह भाजपा में शामिल हो गए थे। सहेंद्र के नाम 38 करोड़ रुपये से अधिक की संपत्ति है। 

  • 57 साल के सहेंद्र ने 12वीं तक की पढ़ाई की है। 
  • इनके नाम 38 करोड़ से ज्यादा की चल अचल संपत्ति है। 
  • 2017 चुनाव के दौरान इनके पास 79 हजार कैश, 23 लाख रुपये से ज्यादा बैंक डिपॉजिट थे। 
  • सहेंद्र के पास 41.39 लाख रुपये के गहने हैं। 
  • इनके पास 3.53 करोड़ रुपये की एग्रीकल्चरल लैंड, 5.80 करोड़ रुपये की रेजिडेंशियल बिल्डिंग है।

विस्तार

उत्तर प्रदेश के विधायक काफी अमीर माने जाते हैं। कम से कम आंकड़े तो यही कहते हैं। एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (एडीआर) की एक रिपोर्ट के मुताबिक, 2004 से अब तक चुने गए उत्तर प्रदेश के विधायकों की औसतन संपत्ति 4.60 करोड़ रुपये है। मतलब ज्यादातर विधायक करोड़पति ही हैं। 

‘अमर उजाला’ ने 2017 में चुने गए विधायकों का हलफनामा चेक किया और इसमें से प्रदेश के टॉप-10 अमीर विधायकों की सूची तैयार की है। इसमें छह विधायक ऐसे हैं जिन्होंने केवल 10वीं से 12वीं तक की पढ़ाई ही की है। सबसे अमीर विधायकों की सूची में पहले और दूसरे नंबर पर बहुजन समाज पार्टी के टिकट पर जीते विधायक हैं। पांच विधायक भाजपा के हैं, एक विधायक ने चुनाव के बाद भाजपा जॉइन कर ली। तीन अमीर विधायक बसपा के हैं, जबकि एक विधायक समाजवादी पार्टी का। पढ़िए पूरी लिस्ट…

गुड्डू जमाली

1. शाह आलम ऊर्फ गुड्डू जमाली

बहुजन समाज पार्टी के टिकट पर आजमगढ़ के मुबारकपुर सीट से जीत हासिल की थी। मायावती ने उन्हें बसपा विधानमंडल दल का नेता भी बनाया था, लेकिन नवंबर 2021 में उन्होंने बसपा को ही झटका दे दिया। अब वह समाजवादी पार्टी में शामिल हो चुके हैं। पेशे से कारोबारी हैं। 

  • 2017 में चुनाव आयोग को दिए हलफनामे के आधार पर जमाली के पास कुल करीब 118 करोड़ की संपत्ति है। 
  • जामिया मिलिया इस्लामिया से 1993 में बी.कॉम की पढ़ाई की है। 
  • जमाली के ऊपर 2017 तक कोई आपराधिक मुकदमा दर्ज नहीं था। 
  • उनके पास एक पिस्टल और एक राइफल है। 
  • जमाली के नाम एक टोयटा कार है। 
  • 2.70 करोड़ के करीब की एग्रीकल्चर लैंड और 2.32 करोड़ की नॉन एग्रीकल्चर लैंड है। 



Source link

Continue Reading

Aligarh

Ncb Taken 5.94 Lakhs From The House Of Charas Smuggler – अलीगढ़ः चरस तस्कर के घर से एनसीबी लखनऊ ले गई 5.94 लाख

Published

on

By


ख़बर सुनें

फिरोजाबाद में गिरफ्तार हुए रोरावर खैर रोड इलाके के चरस तस्कर के घर शुक्रवार शाम एनसीबी लखनऊ की टीम सर्च वारंट के आधार पर पहुंची। इस दौरान तलाशी में उसके घर से 5.94 लाख रुपये बरामद किए गए। यह रकम अवैध कारोबार से अर्जित मानी गई और परिवार भी इस रकम का कोई हिसाब नहीं दे पाया। टीम रकम जब्त कर ले गई है, जिसे न्यायालय में पेश किया जाएगा।
एनसीबी लखनऊ के विवेचक इंस्पेक्टर कौशलेंद्र मिश्रा के अनुसार नवंबर 2021 में फिरोजाबाद में नेपाल के रास्ते यूपी में आने वाला अंतरराष्ट्रीय बाजार में करीब डेढ़ करोड़ कीमत की चरस पकड़ी गई थी। इस मामले में खैर रोड रोरावर के नीरज गुप्ता को पकड़ा गया था। उस समय भी उसके पास से डेढ़ लाख रुपये बरामद हुए थे। मुकदमे की विवेचना एनसीबी लखनऊ के संयुक्त निदेशक प्रशांत कुमार की अगुवाई में टीम द्वारा की जा रही है। इसी क्रम में टीम फिरोजाबाद न्यायालय से नीरज गुप्ता के घर का सर्च वारंट लेकर यहां पहुंची। शाम को रोरावर पुलिस के साथ पुलिस नीरज के घर पहुंची। जहां तलाशी के दौरान 5 लाख 94 हजार 200 रुपये जब्त किए गए। परिवार इन रुपयों का हिसाब नहीं बता पाया है। टीम ने इस रकम को अवैध व्यापार से अर्जित रकम माना है। टीम इस रकम को जब्त कर ले गई है। अब न्यायालय के आदेश पर रकम सरकारी खजाने में जमा कराई जाएगी। टीम ने अब तक की विवेचना में पाया है कि नीरज गुप्ता किसी के लिए माल की सप्लाई करता था। यह माल मथुरा पहुंचना था। वहां से आगे जाना था। अभी तक वह व्यक्ति नहीं पकड़ा गया, जिसके लिए नीरज माल लाया था।
क्वार्सी से वांछित विपिन इस मुकदमे में गिरफ्तार
इंस्पेक्टर कौशलेंद्र मिश्रा के अनुसार इस मुकदमे में सासनी हाथरस के विपिन पंडित का नाम आया था। उसे पिछले दिनों मथुरा में पिस्टल आदि के साथ पकड़ा गया है। वह भी इस गैंग का मुख्य सदस्य है। यह पूरा रैकेट नेपाल, झारखंड, असम आदि के जरिये चरस, गांजा आदि नशीले उत्पाद यहां लेकर आता रहा है। विपिन गैंग पिछले वर्ष क्वार्सी में कंटेनर में चरस सहित दबोचा गया था। उस मुकदमे में विपिन फरार था। अब क्वार्सी पुलिस विपिन को मथुरा से अपने यहां तलब कराएगी।

फिरोजाबाद में गिरफ्तार हुए रोरावर खैर रोड इलाके के चरस तस्कर के घर शुक्रवार शाम एनसीबी लखनऊ की टीम सर्च वारंट के आधार पर पहुंची। इस दौरान तलाशी में उसके घर से 5.94 लाख रुपये बरामद किए गए। यह रकम अवैध कारोबार से अर्जित मानी गई और परिवार भी इस रकम का कोई हिसाब नहीं दे पाया। टीम रकम जब्त कर ले गई है, जिसे न्यायालय में पेश किया जाएगा।

एनसीबी लखनऊ के विवेचक इंस्पेक्टर कौशलेंद्र मिश्रा के अनुसार नवंबर 2021 में फिरोजाबाद में नेपाल के रास्ते यूपी में आने वाला अंतरराष्ट्रीय बाजार में करीब डेढ़ करोड़ कीमत की चरस पकड़ी गई थी। इस मामले में खैर रोड रोरावर के नीरज गुप्ता को पकड़ा गया था। उस समय भी उसके पास से डेढ़ लाख रुपये बरामद हुए थे। मुकदमे की विवेचना एनसीबी लखनऊ के संयुक्त निदेशक प्रशांत कुमार की अगुवाई में टीम द्वारा की जा रही है। इसी क्रम में टीम फिरोजाबाद न्यायालय से नीरज गुप्ता के घर का सर्च वारंट लेकर यहां पहुंची। शाम को रोरावर पुलिस के साथ पुलिस नीरज के घर पहुंची। जहां तलाशी के दौरान 5 लाख 94 हजार 200 रुपये जब्त किए गए। परिवार इन रुपयों का हिसाब नहीं बता पाया है। टीम ने इस रकम को अवैध व्यापार से अर्जित रकम माना है। टीम इस रकम को जब्त कर ले गई है। अब न्यायालय के आदेश पर रकम सरकारी खजाने में जमा कराई जाएगी। टीम ने अब तक की विवेचना में पाया है कि नीरज गुप्ता किसी के लिए माल की सप्लाई करता था। यह माल मथुरा पहुंचना था। वहां से आगे जाना था। अभी तक वह व्यक्ति नहीं पकड़ा गया, जिसके लिए नीरज माल लाया था।

क्वार्सी से वांछित विपिन इस मुकदमे में गिरफ्तार

इंस्पेक्टर कौशलेंद्र मिश्रा के अनुसार इस मुकदमे में सासनी हाथरस के विपिन पंडित का नाम आया था। उसे पिछले दिनों मथुरा में पिस्टल आदि के साथ पकड़ा गया है। वह भी इस गैंग का मुख्य सदस्य है। यह पूरा रैकेट नेपाल, झारखंड, असम आदि के जरिये चरस, गांजा आदि नशीले उत्पाद यहां लेकर आता रहा है। विपिन गैंग पिछले वर्ष क्वार्सी में कंटेनर में चरस सहित दबोचा गया था। उस मुकदमे में विपिन फरार था। अब क्वार्सी पुलिस विपिन को मथुरा से अपने यहां तलब कराएगी।



Source link

Continue Reading

Trending