Connect with us

Meerut

Up Tet Paper Leak Case: The Government Has Sought The Records Of The Accused From The Stf And The Property May Be Confiscated – टीईटी पेपर लीक प्रकरण : शासन ने एसटीएफ से मांगा गिरफ्तार आरोपियों का रिकॉर्ड, संपत्ति जब्त करने की तैयारी

Published

on


अमर उजाला ब्यूरो, मेरठ
Published by: कपिल kapil
Updated Fri, 03 Dec 2021 12:44 PM IST

सार

टीईटी पेपर लीक मामले में शासन ने एसटीएफ से गिरफ्तार पांचों आरोपियों का रिकॉर्ड मांगा है। बताया जा रहा है कि जल्द ही इन आरोपियों की संपत्ति जब्त की जा सकती है।

गिरफ्तार तीनों आरोपी।
– फोटो : amar ujala

ख़बर सुनें

उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (यूपी टीईटी) पेपर लीक प्रकरण में आरोपियों की संपत्ति का रिकॉर्ड शासन ने एसटीएफ से मांगा है। एसटीएफ मेरठ ने पांच आरोपियों का रिकॉर्ड खंगाला है।

एसटीएफ की कई जिलों में चल रही दबिश

एसटीएफ मेरठ ने रविवार को टीईटी की परीक्षा शुरू होने से पहले शामली से तीन आरोपी मनीष उर्फ मोनू, रवि उर्फ बंटी और धर्मेंद्र को गिरफ्तार किया था। रवि ने पूछताछ में बड़ौत के छछरपुर गांव निवासी राहुल और अलीगढ़ के गौरव मलान का नाम बताया। एसटीएफ ने ही इन पांचों को गिरफ्तार किया। ये लोग शामली से ही जेल भेजे गए। इसके अलावा एसटीएफ की अलीगढ़, मथुरा में दबिश चल रही है। एसटीएफ का कहना है कि शिक्षक निर्दोष चौधरी को पुलिस ढूंढ रही है।

यह भी पढ़ें: व्यापारी की मौत का मामला: तेजी से वायरल हो रहा ऑडियो, बहनोई ने पत्नी को लेकर खोला ये बड़ा राज
 

एसटीएफ से मांगा आरोपियों का रिकॉर्ड

अब एसटीएफ से आरोपियों का रिकॉर्ड मांगा जा रहा है, ताकि उनकी संपत्ति की जानकारी मिल सके। बताया गया कि आरोपियों की संपत्ति पुलिस जब्त करने की तैयारी में है। इससे पहले भी ये लोग नकल कराने, सॉल्वर गैंग या अन्य अपराध में शामिल रहे हैं या नहीं, इसकी जानकारी शामली, बड़ौत, अलीगढ़ से जुटाई जा रही है। 

यह भी पढ़ें: अडानी समूह बनाएगा गंगा एक्सप्रेसवे : अमरोहा से प्रयागराज तक मिला तीन चरणों का काम 

सीओ एसटीएफ बृजेश सिंह का कहना है कि कई आरोपी के खिलाफ महत्वपूर्ण जानकारी मिली है। पांचों आरोपियों पर गैंगस्टर लगाने की तैयारी है।

विस्तार

उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (यूपी टीईटी) पेपर लीक प्रकरण में आरोपियों की संपत्ति का रिकॉर्ड शासन ने एसटीएफ से मांगा है। एसटीएफ मेरठ ने पांच आरोपियों का रिकॉर्ड खंगाला है।

एसटीएफ की कई जिलों में चल रही दबिश

एसटीएफ मेरठ ने रविवार को टीईटी की परीक्षा शुरू होने से पहले शामली से तीन आरोपी मनीष उर्फ मोनू, रवि उर्फ बंटी और धर्मेंद्र को गिरफ्तार किया था। रवि ने पूछताछ में बड़ौत के छछरपुर गांव निवासी राहुल और अलीगढ़ के गौरव मलान का नाम बताया। एसटीएफ ने ही इन पांचों को गिरफ्तार किया। ये लोग शामली से ही जेल भेजे गए। इसके अलावा एसटीएफ की अलीगढ़, मथुरा में दबिश चल रही है। एसटीएफ का कहना है कि शिक्षक निर्दोष चौधरी को पुलिस ढूंढ रही है।

यह भी पढ़ें: व्यापारी की मौत का मामला: तेजी से वायरल हो रहा ऑडियो, बहनोई ने पत्नी को लेकर खोला ये बड़ा राज

 

एसटीएफ से मांगा आरोपियों का रिकॉर्ड

अब एसटीएफ से आरोपियों का रिकॉर्ड मांगा जा रहा है, ताकि उनकी संपत्ति की जानकारी मिल सके। बताया गया कि आरोपियों की संपत्ति पुलिस जब्त करने की तैयारी में है। इससे पहले भी ये लोग नकल कराने, सॉल्वर गैंग या अन्य अपराध में शामिल रहे हैं या नहीं, इसकी जानकारी शामली, बड़ौत, अलीगढ़ से जुटाई जा रही है। 

यह भी पढ़ें: अडानी समूह बनाएगा गंगा एक्सप्रेसवे : अमरोहा से प्रयागराज तक मिला तीन चरणों का काम 

सीओ एसटीएफ बृजेश सिंह का कहना है कि कई आरोपी के खिलाफ महत्वपूर्ण जानकारी मिली है। पांचों आरोपियों पर गैंगस्टर लगाने की तैयारी है।



Source link

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Meerut

Arjuna Awardee Wrestler Divya Kakran Engaged, Married After Olympics – यूपी: दिव्या काकरान ने की सगाई, ओलंपिक के बाद शादी, शामली के जाफरपुर के सचिन प्रताप के साथ होगा विवाह

Published

on

By


अमर उजाला नेटवर्क, मेरठ
Published by: शाहरुख खान
Updated Wed, 26 Jan 2022 12:12 AM IST

सार

पुरबालियान गांव की बेटी दिव्या ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर जिले का नाम रोशन किया है। काकरान के पिता सूरज पहलवान ने बताया कि मंगलवार को दिव्या की सगाई नेशनल बॉडी बिल्डर खिलाड़ी सचिन प्रताप के साथ हुई है। 

दिव्या काकरान ने की सगाई

दिव्या काकरान ने की सगाई
– फोटो : अमर उजाला

ख़बर सुनें

विस्तार

अर्जुन अवार्डी पहलवान दिव्या काकरान की शादी तय हो गई है। पारिवारिक समारोह में मेरठ निवासी नेशनल खिलाड़ी सचिन प्रताप के साथ दिव्या की सगाई हो गई। इस दौरान दोनों परिवार मौजूद रहे। दिव्या ने बताया कि ओलंपिक के बाद ही वह शादी करेंगी, फिलहाल सगाई हुई है।

पुरबालियान गांव की बेटी दिव्या ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर जिले का नाम रोशन किया है। काकरान के पिता सूरज पहलवान ने बताया कि मंगलवार को दिव्या की सगाई नेशनल बॉडी बिल्डर खिलाड़ी सचिन प्रताप के साथ हुई है। सचिन मूल रूप से शामली के जाफरपुर गांव का रहने वाला है और इन दिनों परिवार के साथ मेरठ में रहता है। सचिन के पिता मेरठ में रहते हैं।

पिछले साल जीता था कांस्य

दिव्या ने पिछले दिनों  सर्बिया में खेली गई   अंडर-23 वर्ल्ड चैंपियनशिप में  कांस्य पदक जीता था।  काकरान ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर 77वां पदक जीतकर जिले का नाम रोशन किया था।

अब ओलंपिक का पदक बाकी

दिव्या काकरान के पिता सूरज पहलवान ने बताया कि दिव्या ने अंतरराष्ट्रीय स्तर की सभी प्रतिस्पर्धाओं में पदक जीत लिया है। अब सिर्फ ओलंपिक का पदक ही बाकी है। दिव्या इसके लिए पूरी जी जान से तैयारी में जुटी हुई है। उसने अंडर-23 विश्व चैंपियन के पदक को लक्ष्य बनाया था, जिसे जीत लिया है। दिव्या ने कहा कि उसका लक्ष्य पहले ओलंपिक पदक जीतना है। परिवार के कहने पर उसने सगाई की है। दोनों परिवार पुरबालियान में एकत्र हुए थे।

 



Source link

Continue Reading

Meerut

Ghaziyabad – दिल्ली-मेरठ मार्ग पर गन्ने से भरा ट्रक पलटा,भीषण जाम लगा

Published

on

By


ख़बर सुनें

गन्ने से लदा ट्रक पलटा, दिल्ली-मेरठ मार्ग रहा तीन घंटे जाम
मोदीनगर। दिल्ली-मेरठ मार्ग स्थित राजेंद्र नगर गोल के गेट के सामने रविवार दोपहर गन्ने से ओवरलोड ट्रक पलट गया। गन्ना बिखर जाने पर लंबा जाम लग गया। रैपिड रेल निर्माण के लिए की गई बैरिकेडिंग से रास्ता संकरा होने से हालात और बिगड़ गए। वाहनों की कई किमी लंबी लाइन लग गई। बाद में ट्रैफिक पुलिस ने कई क्रेनों की मदद से ट्रक को मुख्य मार्ग से हटाया। इसके करीब चार घंटे बाद यातायात सामान्य हो सका।
रविवार दोपहर ओवरलोड ट्रक गन्ना लेकर मेरठ की ओर जा रहा था। ओवरलोड होने के कारण ट्रक के पीछे वाहनों की लंबी कतार लगी थी। ट्रक जैसे ही नगर के भीड़भाड़ वाले क्षेत्र राजेन्द्र नगर गोल गेट पहुंचा तभी अनियंत्रित होकर पलट गया। गन्ना सड़क पर बिखर गया। मुख्य मार्ग पर भीषण जाम लग गया। सैकड़ों वाहनों के पहिये ठहर गए। करीब तीन घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद एनसीआरटीसी सहित कई क्रेनों ने ट्रक को सीधा किया। इसके बाद यातायात सामान्य होने में चार घंटे से अधिक का समय लगा। सीओ सुनील कुमार सिंह का कहना है कि ट्रक पलटने से यातायात प्रभावित हुआ। यातायात सामान्य करने के लिए पुलिसकर्मी लगाए गए थे।
टीईटी के परीक्षार्थियों से यातायात हुआ बाधित
नगर में रूकमणी मोदी इंटर कॉलेज तथा डॉ. केएन मोदी कॉलेज सहित तीन केंद्रों पर टीईटी की परीक्षा थी। अधिकांश परीक्षार्थी अपने वाहनों से परीक्षा देने पहुंचे थे। उन्होने अपने वाहन बेतरतीब तरीके से पार्क किए थे। इससे जाम की स्थिति और भयावह हो गई। पुलिस ने मेरठ की ओर जाने वाले ट्रैफिक को गंगनहर से डायवर्ट किया।
मोदी शुगर मिल का नहीं था ट्रक
ट्रक मोदी शुगर मिल का नहीं था। यह ट्रक सिंभावली शुगर मिल जा रहा था। हमने गन्ना ढुलाई में लगे ठेकेदारों को निर्देशित किया हुआ है कि दिन में किसी भी कीमत पर ट्रक से गन्ने की ढुलाई न कराएं।
– डीडी कौशिक, जीएम पीआर, उमेश मोदी ग्रुप

गन्ने से लदा ट्रक पलटा, दिल्ली-मेरठ मार्ग रहा तीन घंटे जाम

मोदीनगर। दिल्ली-मेरठ मार्ग स्थित राजेंद्र नगर गोल के गेट के सामने रविवार दोपहर गन्ने से ओवरलोड ट्रक पलट गया। गन्ना बिखर जाने पर लंबा जाम लग गया। रैपिड रेल निर्माण के लिए की गई बैरिकेडिंग से रास्ता संकरा होने से हालात और बिगड़ गए। वाहनों की कई किमी लंबी लाइन लग गई। बाद में ट्रैफिक पुलिस ने कई क्रेनों की मदद से ट्रक को मुख्य मार्ग से हटाया। इसके करीब चार घंटे बाद यातायात सामान्य हो सका।

रविवार दोपहर ओवरलोड ट्रक गन्ना लेकर मेरठ की ओर जा रहा था। ओवरलोड होने के कारण ट्रक के पीछे वाहनों की लंबी कतार लगी थी। ट्रक जैसे ही नगर के भीड़भाड़ वाले क्षेत्र राजेन्द्र नगर गोल गेट पहुंचा तभी अनियंत्रित होकर पलट गया। गन्ना सड़क पर बिखर गया। मुख्य मार्ग पर भीषण जाम लग गया। सैकड़ों वाहनों के पहिये ठहर गए। करीब तीन घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद एनसीआरटीसी सहित कई क्रेनों ने ट्रक को सीधा किया। इसके बाद यातायात सामान्य होने में चार घंटे से अधिक का समय लगा। सीओ सुनील कुमार सिंह का कहना है कि ट्रक पलटने से यातायात प्रभावित हुआ। यातायात सामान्य करने के लिए पुलिसकर्मी लगाए गए थे।

टीईटी के परीक्षार्थियों से यातायात हुआ बाधित

नगर में रूकमणी मोदी इंटर कॉलेज तथा डॉ. केएन मोदी कॉलेज सहित तीन केंद्रों पर टीईटी की परीक्षा थी। अधिकांश परीक्षार्थी अपने वाहनों से परीक्षा देने पहुंचे थे। उन्होने अपने वाहन बेतरतीब तरीके से पार्क किए थे। इससे जाम की स्थिति और भयावह हो गई। पुलिस ने मेरठ की ओर जाने वाले ट्रैफिक को गंगनहर से डायवर्ट किया।

मोदी शुगर मिल का नहीं था ट्रक

ट्रक मोदी शुगर मिल का नहीं था। यह ट्रक सिंभावली शुगर मिल जा रहा था। हमने गन्ना ढुलाई में लगे ठेकेदारों को निर्देशित किया हुआ है कि दिन में किसी भी कीमत पर ट्रक से गन्ने की ढुलाई न कराएं।

– डीडी कौशिक, जीएम पीआर, उमेश मोदी ग्रुप



Source link

Continue Reading

Meerut

Shah Will Sharpen Bjp’s Strategy From Kairana Today – संशोधित -अमित शाह कैराना से देंगे धार

Published

on

By


ख़बर सुनें

आज कैराना से भाजपा की रणनीति को धार देंगे शाह
कैराना (शामली)। केंद्रीय गृह व सहकारिता मंत्री अमित शाह शनिवार को कैराना से भाजपा के चुनाव अभियान की शुरू कर रहे हैं। वह कैराना में सपा सरकार में पलायन कर गए और बाद में लौटकर आए व्यापारियों व परिवारों से मुलाकात करेंगे। इसके बाद गृह मंत्री बागपत और शामली जिले के पार्टी के प्रत्याशियों और नेताओं को जीत का मंत्र देंगे। गृह मंत्री के आगमन को लेकर पुलिस प्रशासन अलर्ट हो गया है। इससे साफ हो रहा है कि भाजपा पश्चिमी उत्तर प्रदेश में विधान सभा चुनाव में कैराना पलायन मुद्दे को इस बार भी प्रमुखता से उठाने जा रही है।
भाजपा जिलाध्यक्ष सतेंद्र तोमर ने बताया कि गृहमंत्री कैराना में मोहल्ला गुंबद स्थित 70 साल पुरानी दुकान साधु स्वीट्स पर पहुंचेंगे और वहां पर वर्ष 2014 में बदमाशों के भय से पलायन करने के बाद भाजपा सरकार में वापस लौटे साधु स्वीट्स के मालिक राकेश गर्ग व अन्य चार-पांच परिवारों से मुलाकात करेंगे। शुक्रवार को पंचायत राज मंत्री भूपेंद्र चौधरी, भाजपा जिलाध्यक्ष व विवेक प्रेमी सहित स्थानीय भाजपा कार्यकर्ताओं ने दुकान मालिक राकेश गर्ग के साथ दुकान की ऊपरी मंजिल पर पहुंचकर व्यवस्था परखी और गृहमंत्री के रूट का भी बाजारों में पहुंचकर निरीक्षण किया।
रंगदारी की चिट्ठी के बाद पलायन कर गया था परिवार
कैराना। करीब 70 साल पुरानी दुकान साधु स्वीट्स का कैराना और आसपास में काफी नाम रहा है। इसके मालिक राकेश गर्ग ने बताया कि कैराना के मोहल्ला गुबंद में उनके नाना साधुराम रहते थे। वह बचपन में उनके पास आ गए थे। उनकी एक दुकान मोहल्ला गुंबद में और दूसरी नवाब मार्किट में थी। वर्ष 2014 में नवाब मार्किट में दुकान के बाहर बदमाशों ने 20 लाख रुपये रंगदारी देने की चिट्ठी डाली थी, जिसके बाद वह अपने परिवार को लेकर अंबाला चले गए थे। 2016 में वह वापस कैराना आ गए थे।
आठ नवंबर को कैराना आए थे सीएम योगी
गत वर्ष आठ नवंबर को मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ कैराना आए तो चौक बाजार स्थित कटैहरा धर्मशाला के पास पलायन करने के बाद लौटकर आए व्यापारी विजय मित्तल के आवास पर पहुंचे थे। वहां पर प्रसिद्ध मुला पंसारी के पोते विजय मित्तल सहित अन्य दो तीन व्यापारियों से मुलाकात की थी।
-केंद्रीय गृह व सहकारिता मंत्री अमित शाह का कार्यक्रम
शनिवार दोपहर ढाई बजे पब्लिक इंटर कालेज के हेलीपैड पर अमित शाह के हेलीकाप्टर की लैंडिंग
2 बजकर 45 मिनट पर साधु स्वीट्स की दुकान पर पलायन के बाद वापस लौटे परिवारों से मुलाकात
3 बजकर 15 मिनट पर शामली के होटल ओरचिड में शामली व बागपत जिले के कार्यकर्ताओं के साथ बैठक
4 बजकर 22 मिनट पर पब्लिक इंटर कालेज के हेलीपैड से हेलीकॉप्टर से मेरठ के लिए प्रस्थान

आज कैराना से भाजपा की रणनीति को धार देंगे शाह

कैराना (शामली)। केंद्रीय गृह व सहकारिता मंत्री अमित शाह शनिवार को कैराना से भाजपा के चुनाव अभियान की शुरू कर रहे हैं। वह कैराना में सपा सरकार में पलायन कर गए और बाद में लौटकर आए व्यापारियों व परिवारों से मुलाकात करेंगे। इसके बाद गृह मंत्री बागपत और शामली जिले के पार्टी के प्रत्याशियों और नेताओं को जीत का मंत्र देंगे। गृह मंत्री के आगमन को लेकर पुलिस प्रशासन अलर्ट हो गया है। इससे साफ हो रहा है कि भाजपा पश्चिमी उत्तर प्रदेश में विधान सभा चुनाव में कैराना पलायन मुद्दे को इस बार भी प्रमुखता से उठाने जा रही है।

भाजपा जिलाध्यक्ष सतेंद्र तोमर ने बताया कि गृहमंत्री कैराना में मोहल्ला गुंबद स्थित 70 साल पुरानी दुकान साधु स्वीट्स पर पहुंचेंगे और वहां पर वर्ष 2014 में बदमाशों के भय से पलायन करने के बाद भाजपा सरकार में वापस लौटे साधु स्वीट्स के मालिक राकेश गर्ग व अन्य चार-पांच परिवारों से मुलाकात करेंगे। शुक्रवार को पंचायत राज मंत्री भूपेंद्र चौधरी, भाजपा जिलाध्यक्ष व विवेक प्रेमी सहित स्थानीय भाजपा कार्यकर्ताओं ने दुकान मालिक राकेश गर्ग के साथ दुकान की ऊपरी मंजिल पर पहुंचकर व्यवस्था परखी और गृहमंत्री के रूट का भी बाजारों में पहुंचकर निरीक्षण किया।

रंगदारी की चिट्ठी के बाद पलायन कर गया था परिवार

कैराना। करीब 70 साल पुरानी दुकान साधु स्वीट्स का कैराना और आसपास में काफी नाम रहा है। इसके मालिक राकेश गर्ग ने बताया कि कैराना के मोहल्ला गुबंद में उनके नाना साधुराम रहते थे। वह बचपन में उनके पास आ गए थे। उनकी एक दुकान मोहल्ला गुंबद में और दूसरी नवाब मार्किट में थी। वर्ष 2014 में नवाब मार्किट में दुकान के बाहर बदमाशों ने 20 लाख रुपये रंगदारी देने की चिट्ठी डाली थी, जिसके बाद वह अपने परिवार को लेकर अंबाला चले गए थे। 2016 में वह वापस कैराना आ गए थे।

आठ नवंबर को कैराना आए थे सीएम योगी

गत वर्ष आठ नवंबर को मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ कैराना आए तो चौक बाजार स्थित कटैहरा धर्मशाला के पास पलायन करने के बाद लौटकर आए व्यापारी विजय मित्तल के आवास पर पहुंचे थे। वहां पर प्रसिद्ध मुला पंसारी के पोते विजय मित्तल सहित अन्य दो तीन व्यापारियों से मुलाकात की थी।

-केंद्रीय गृह व सहकारिता मंत्री अमित शाह का कार्यक्रम

शनिवार दोपहर ढाई बजे पब्लिक इंटर कालेज के हेलीपैड पर अमित शाह के हेलीकाप्टर की लैंडिंग

2 बजकर 45 मिनट पर साधु स्वीट्स की दुकान पर पलायन के बाद वापस लौटे परिवारों से मुलाकात

3 बजकर 15 मिनट पर शामली के होटल ओरचिड में शामली व बागपत जिले के कार्यकर्ताओं के साथ बैठक

4 बजकर 22 मिनट पर पब्लिक इंटर कालेज के हेलीपैड से हेलीकॉप्टर से मेरठ के लिए प्रस्थान



Source link

Continue Reading

Trending